'हैलो' एप्प है साथ तो डरने की क्या बात

By: Inextlive | Publish Date: Sun 13-Aug-2017 07:41:21
A- A+
'हैलो' एप्प है साथ तो डरने की क्या बात

- यूपी टूरिज्म डिपार्टमेंट जल्द लांच करेगा टूरिस्ट फ्रेंडली एप्प

- फॉरेनर्स को देगा सुरक्षा का पूरा अहसास

- पल भर में मिलेगी सेवा, मौके पर ही होगा समस्या का निराकरण

varanasi

सात समुंदर पार से भारत भ्रमण के लिए आने वाले फॉरेनर्स टूरिस्ट को सिक्योरिटी के प्वॉइंट ऑफ वे से परेशान होने की जरुरत नहीं है। यूपी टूरिज्म डिपार्टमेंट उन्हें पहले से ज्यादा सुरक्षित वातावरण देने की योजना बना रहा है। इसे आसान बनाने के लिए अब टूरिस्ट को हैलो एप्प देने की कवायद चल रही है। जिसके थ्रू मैसेज मिलते ही संबधित डिपार्टमेंट के कर्मचारी गेस्ट की हेल्प के लिए सामने हाजिर होंगे। मौके पर ही उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा।

टूरिस्ट को मिलेगी राहत

भ्रमण के दौरान दु‌र्व्यवहार और चोरी छिनैती जैसी घटनाओं के बाद टूरिस्ट को शिकायत के लिए जानकारी के अभाव में इधर- उधर भटकना पड़ता है। मौके पर पुलिस या फिर टूरिज्म डिपार्टमेंट का कोई सेवादाता मिला तो ठीक, वरना उन्हें समय से हेल्प नहीं मिल पाती है। लेकिन आने वाले दिनों में जानकारियों से लैस डिपार्टमेंट का टूरिज्म फ्रेंडली एप्प उनके हाथों में होगा।

कई भाषाओं में करेगा काम

दुर्घटना के शिकार अधिकतर फॉरेनर्स के साथ भाषा की समस्या सामने आती है। पुलिस भी उनकी परेशानी को सॉल्व करने के लिए विशेषज्ञ या फिर अनुवादकों की सहायता लेती है। इसे ध्यान में रखते हुए इस एप्प में इंग्लिश के अलावा कुछ देशों की भाषा पर भी काम किया गया है।

एयरपोर्ट पर ही होगा इंस्टॉल

देश में इंट्री करने के बाद टूरिस्ट के सेल फोन पर एयरपोर्ट पर ही हेलो एप्प इंस्टॉल कर दिया जाएगा। वहां मौजूद टूरिस्ट डिपार्टमेंट के हेल्प डेस्क पर यह सुविधा मिलेगी। मेहमानों को बकायदा एप्प चलाने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। इसकी मॉनिटरिंग डिपार्टमेंट के उच्चाधिकारी करेंगे.

हाईलाइटर

- एप्प में पुलिस डिपार्टमेंट का डिटेल

- टूरिज्म प्लेस से जुड़ी अहम जानकारी

- कई डिपार्टमेंट के ऑफिसर्स का नंबर

- ऑफिसियल ई मेल और वेबसाइट

- हॉस्पिटल और इमरजेंसी नंबर

आफिसियल वर्जन

टूरिज्म फ्रेंडली एप्प के लिए रिपोर्ट बनाकर हेड ऑफिस भेज दिया गया है। रिपोर्ट में सिटी की डिटेल्स और लोकल इनपुट को शामिल किया गया है। अभी हेड ऑफिस से डायरेक्शन आना बाकि है।

देबनाथ सिंह, सूचना अधिकारी टूरिज्म डिपार्टमेंट

inextlive from Varanasi News Desk