हाईटेक होगा शहर का हर चौराहा

By: Inextlive | Publish Date: Wed 13-Sep-2017 07:41:02
A- A+
हाईटेक होगा शहर का हर चौराहा

- ढ्ढञ्जढ्ढ ने बनाया शहर की टै्रफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने का प्लान

- टै्रफिक का हाल बताने को चौराहों लगायी जाएगी स्क्रीन

1ड्डह्मड्डठ्ठड्डह्यद्ब

शहर की बेतरतीब और बदइंतजाम टै्रफिक से निजात की उम्मीद नजर आ रही है। स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने इंस्टीट्यूट ऑफ अर्बन ट्रांसपोर्ट इंडिया (आईयूटीआई) से अनुबंध किया है। इसके साथ शहर टै्रफिक सिस्टम को स्मार्ट बनाने की जिम्मेदारी उसे सौंप दी। आईयूटीआई ने शहर का सर्वे करने के बाद अपनी रिपोर्ट तैयार की। इसे स्थानीय प्रशासन को सौंपा दिया है। इसके तहत शहर की टै्रफिक व्यवस्था में आमूल- चूल परिवर्तन की जरूरत है। इसकी शुरुआत चौराहों से की जाएगी। सबसे पहले शहर के आठ चौराहे हाईटेक किए जाएंगे। इनसे जुड़ने वाले रोड्स पर भी काम होगा।

नजर आएगा सब

आईयूटीआई ने जो रिपोर्ट तैयार की है उसके मुताबिक शहर के प्रमुख चौराहों के आस- पास अतिक्रमण की समस्या है। इसके चलते टै्रफिक फ्लो स्मूद नहीं हो पाता है। चौराहों से जुड़ी सड़कों पर जाम की स्थिति उत्पन्न होती है। अतिक्रमण की समस्या को दूर करने के बाद इन्हें हाइटेक बनाने की दिशा में काम शुरू किया जाएगा। सबसे पहले टै्रफिक सिग्नल को दुरुस्त किया जाएगा। टै्रफिक को इनके जरिये संचालित किया जाएगा। सभी चौराहे पर कैमरा होगा। इनके जरिये नियम तोड़ने वालों पर नजर रखी जाएगी। साथ ही स्क्रीन लगेगी। इससे अगले चौराहों पर टै्रफिक की स्थिति का पता चल सकेगा। चौराहों से जुड़ी सड़कें भी स्क्रीन पर नजर आएंगी। अगर कहीं जाम है तो उसकी वजह भी स्पष्ट हो सकेगी।

इन पर भी फोकस

शहर के टै्रफिक को स्मूद करने के लिए आईयूटीआई ने कई बिंदुओं पर फोकस किया है। इसके तहत भीड़ वाली सड़कों पर स्मूद टै्रफिक के लिए जरूरत के अनुसार डिवाइडर लगाया जाएगा। नॉन मोटराइज टै्रफिक के लिए सुविधाओं का उच्चीकरण किया जाएगा। चौराहों के निकास और प्रवेश मार्गो को टै्रफिक फ्लो के लिहाज से सुगम बनाया जाएगा। पैदल यात्रियों के लिए जगह- जगह फुटपाथ बनाया जाएगा। सड़क क्रॉस करने के लिए जेब्रा लाइन बनायी जाएंगी। इसके साथ ही हर एरिया को ग्रीन बनाना भी प्लान में है।

इनसे होगी शुरुआत

आईयूटीआई चौराहों को हाईटेक बनाने की शुरुआत हैवी टै्रफिक वाले चौराहों से करेगा। इनमें पाण्डेयपुर, कचहरी, पुलिस लाइन, नदेसर, अंधरापुल, चौकाघाट, कैंट स्टेशन, इंग्लिशियालाइन चौराहा शामिल है। यहां किये गए प्रयोग के बाद अन्य चारौहों पर भी यही सब कुछ किया जाएगा.

शहर की यातायात व्यवस्था को अत्याधुनिक बनाने की जिम्मेदारी आईयूटीआई को सौंपी गयी है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत टै्रफिक सिस्टम को भी स्मार्ट बनाना है। इस बाबत प्लान तैयार है। जल्द काम शुरू होगा.

डॉ। नितिन बंसल, नगर आयुक्त

inextlive from Varanasi News Desk