अदालतों में हो हिंदी का अधिक से अधिक प्रयोग

By: Inextlive | Publish Date: Sat 17-Sep-2016 07:40:04
A- A+
अदालतों में हो हिंदी का अधिक से अधिक प्रयोग

जस्टिस रणविजय सिंह ने किया आह्वान

एडवोकेट एसोसिएशन के हिंदी दिवस समारोह का समापन

इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्तियों ने अदालतों में हिंदी भाषा का प्रयोग बढ़ाने पर जोर दिया है। एडवोकेट एसोसिएशन की ओर से आयोजित तीन दिवसीय हिंदी दिवस समारोह में जस्टिस रणविजय सिंह ने लोगों का आह्वान किया कि इसकी शुरुआत घर की बोलचाल से ही करें। आम बोलचाल में हिंदी की प्रयोग बढ़ने से इस भाषा का विकास होगा। उन्होंने सहज- सरल शब्दों के प्रयोग से विधि क्षेत्र में इस भाषा की महत्ता बढ़ाई जा सकती है।

अधिवक्ता करें अगुवाई

समापन समारोह में विशिष्ट अतिथि जस्टिस पंकज मित्तल ने कहा कि अधिवक्ताओं को इसके लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने न्यायालयों में हिंदी के प्रयोग को वर्तमान की जरूरत बताया। जस्टिस राम सूरत राम मौर्य ने कहा कि अधिवक्ता अधिक से अधिक काम हिंदी में करें तो न्यायिक कार्यो में इस भाषा का स्वीकार्यता बढ़ेगी। न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने कहा कि किसी भी भाषा को शीर्ष पर ले जाने के लिए उसका सहज होना जरूरी है। अधिवक्ता कठिन शब्दों के प्रयोग से बचें और सरल शब्दों का प्रयोग करें तो यह अधिक ग्राह्य होगी। अध्यक्षता एडवोकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भगवती प्रसाद सिंह ने की। धन्यवाद ज्ञापन करते हुए उन्होंने कहा कि हिंदी का प्रयोग बढ़ाने के लिए सबको मिलकर प्रयास करना होगा। संचालन महासचिव अरुण के सिंह देशवाल ने किया। उपाध्यक्ष आरपीएस चौहान, बृजेश यादव, सुनील वर्मा, अभिषेक, गौरव कुमार चंद, गौरव पुंडीर, प्रशांत कुमार सिंह, ओपीएस राठौर, जनार्दन सिंह आदि ने अतिथियों का स्वागत किया।

inextlive from Allahabad News Desk