- खेल निदेशालय का फरमान, खाली होगा ताइक्वांडो प्रैक्टिस हॉल

- एस्ट्रोटर्फ मैदान के लिए बनेगा चेंजिंग रूम

आगरा. एकलव्य स्टेडियम में बने रहे एस्ट्रोटर्फ मैदान के मानक पूरे करने के लिए चेजिंग रूम भी बनवाए जाने हैं. इसके लिए कहीं जगह नहीं मिली तो खेल निदेशालय ने 250 से ज्यादा खिलाडि़यों की प्रैक्टिस के लिए बने एकमात्र ताइक्वांडो हॉल को ही खाली कराने का फरमान सुना दिया. स्टेडियम में ताइक्वांडो की प्रैक्टिस करने वाले खिलाडि़यों के लिए आवंटित हॉल अब एस्ट्रोटर्फ मैदान का चेंजिंग रूम बनेगा.

मानकों पूरे करने के लिए बनाने हैं चेंजिंग रूम

स्टेडियम में इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन के मानकों के अनुसार एस्ट्रोटर्फ मैदान तैयार कराया जा रहा है. इसके लिए टर्फ भी नीदरलैंड से मंगावाई गई है. स्टेडियम में चेंजिंग रूम की आवश्यकता थी. पहले इसके लिए मैदान परिसर में ही चेजिंग रूम तैयार किए जाने का प्रस्ताव था. लेकिन मैदान की बाउंड्री में आ रहे करीब आठ पेड़ों की कटाई की अनुमति नहीं मिलने पर उसे वहां रूम बनाने के लिए जगह नहीं मिली. ऐसे में अब खेल निदेशालय द्वारा स्टेडियम में जूडो और ताइक्वांडो की प्रैक्टिस के लिए आवंटित दो हॉल को खाली करने के निर्देश दिए गए है.

250 खिलाड़ी कहां जाएं, पता नहीं

ताइक्वांडो स्टेडियम में सबसे ज्यादा खिलाडि़यों के गेम्स में तीसरे-चौथे नंबर पर आता है. इस गेम में 250 से ज्यादा खिलाड़ी सुबह-शाम की शिफ्ट में स्टेडियम में प्रैक्टिस करने के लिए आते हैं. स्टेडियम में अतिरिक्त जगह नहीं होने के कारण इस हॉल को खाली करने के आदेश दे दिया गया है. लेकिन खेल निदेशालय ने यह नहीं बताया कि इन खिलाडि़यों को प्रैक्टिस के लिए कहां जगह दी जाए. जबकि ताइक्वांडो और जूडो में प्रैक्टिस के लिए मैट की भी आवश्यकता होती है जो अब खिलाडि़यों के लिए नहीं रहेगा.