वाराणसी: बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ का नारा रविवार की दोपहर सिगरा इलाके में धूमिल होता नजर आया. बाइक में स्कूटी से टक्कर क्या लगी मनबढ़ युवकों ने सरेराह दो लड़कियों का बाल खींचकर पिटाई शुरू कर दी. इतना ही नहीं, मूकदर्शक बनी पब्लिक के बीच एक दुकानदार ने हिम्मत जुटाया तो उसकी भी लात घूंसे से पिटाई की गई. 15-20 मिनट तक चले इस घटना के दौरान न तो पिकेट की पुलिस दिखी और न ही सौ गज की दूरी पर स्थित सिगरा थाने को यह खबर लग सकी.

बाल खींचकर रोड पर की पिटाई

हुआ यूं कि शास्त्री नगर स्थित एक रेस्टोरेंट से दो सहेलियां निकलकर अपनी स्कूटी मोड़ रही थीं कि एक बाइक से उनकी स्कूटी से हल्की टक्कर हो गई. मनबढ़ ने स्कूटी की चाबी निकाल ली और उनके साथ मिसबिहैव करने लगा. सहेलियों ने नुकसान की भरपाई करने को भी कहा लेकिन इलाकाई गुंडा कुछ सुनने को तैयार नहीं था. छात्राओं को सबक सिखाने की बात कहते हुए उसने फोन कर अपने कुछ साथियों को भी बुला लिया. इस बीच दुकानदार शिवकुमार गुप्ता ने मनबढ़ से छात्राओं को जाने देने की बात कही तो वह आगबबूला हो गया. अपने साथियों के साथ दुकानदार पर लात-घूंसे बरसाना शुरू कर दिया. सहमी छात्राएं सड़क पार कर पैदल ही थाने की ओर बढ़ने लगीं तो मनबढ़ ने अपने साथियों के साथ दौड़ाकर उन्हें पकड़ लिया और बाल खींचकर उनकी भी पिटाई की. सरेराह युवतियां चंद गुंडों से पिटती रही लेकिन लोग तमाशा देखते रहे. छात्राओं की पिटाई के बाद मनबढ़ धमकी देते हुए चले गए.

पीडि़त लड़कियों ने तहरीर दी है. आसपास दुकानों में लगे सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान की जा रही है. किसी भी कीमत पर आरोपी बचेंगे नहीं.

गोपालजी गुप्ता, एसओ सिगरा