पिता ने हाथ-पैर तक जोड़े

मृतक के पिता लखमेश्वर राय ने बताया कि बेटे की मौत के बाद उसके शव को लेने के लिए अस्पताल मालिक का हाथ पैर पड़ता रहा लेकिन उसने मेरे बेटे का शव नहीं दिया. अस्पताल के लोगों ने कहा कि भ्भ् हजार रुपए जमा करने पर ही शव दिया जाएगा.

अस्पताल प्रबंधन ने साधी चुप्पी

जब इस मामले में हमने अस्पताल प्रबंधन से उसका पक्ष जानने के लिए कॉल किया तो उसके तरफ से कोई जवाब नहीं आया. बीते एक महीने में पटना में कई छोटे बड़े अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाली कई घटनाएं सामने आई है. जिसमें पैसों के लिए मरीजों को बंधक बनाने के कई मामले शामिल है.