UIDAI को ट्वीट करके सुर्खियों में आई महिला के कारण लोगों को मिली नई जानकारी

प्रिया नाम की इस महिला ने जब अपने 18 साल पुराने मोबाइल नंबर को बायोमेट्रिक द्वारा आधार से वेरीफाई कराने की कोशिश की तो उसे एयरटेल ने बताया कि वो ऐसा नहीं कर सकती, क्‍यों‍कि उसके आधार नंबर पर पहले से ही 9 मोबाइल सिम इश्‍यू किए जा चुके हैं। कहने का मतलब यह है कि एक आधार नंबर पर मैक्सिमम 9 मोबाइल कनेक्‍शन जारी हो सकते हैं। हालांकि जब महिला ने आधार अथॉरिटी और एयरटेल को ट्वीट करके हंगामा मचा दिया तो मोबाइल कंपनी ने 5 दिन बाद कहा कि सब ठीक है आपके आधार पर सिर्फ आपका ही नंबर चल रहा है। ऐसा कारनामा कैसे हुआ, यह तो मोबाइल कंपनी ही बात सकती है। फिर हम यहां बता रहे हैं वो 5 आसान स्‍टेप्‍स, जिनसे आप जान सकते हैं कि कहीं आपके आधार नंबर का भी तो मिसयूज नहीं हो रहा।

आपके आधार नंबर पर कितने मोबाइल कनेक्‍शन चल रहे हैं? पता कर लो, वर्ना इन मैडम जैसा हाल न हो!

1- आधार की ऑफीशियल वेबसाइट पर जाइए

आपको सबसे पहले आधार यानि UIDAI की ऑफीशियल वेबसाइट (https://uidai.gov.in/) पर जाना होगा। इसके होम पेज के दाहिनी ओर Aadhar Services सेक्‍शन में लास्‍ट यानि चौथे नंबर पर दिए ऑप्‍शन पर क्लिक करें। इसका नाम है Aadhar authentication History।

आपका आधार नंबर कहीं मिसयूज तो नहीं हो रहा? 1 मिनट में जानिए यहां...

2- आधार नंबर और OTP लिखें

इसके बाद खुलने वाले पेज पर आपको अपना 12 डिजिट का आधार नंबर और पेज पर लिखा सेक्‍योरिटी कोड भरना होगा।

आपका आधार नंबर कहीं मिसयूज तो नहीं हो रहा? 1 मिनट में जानिए यहां...

3- पिछले 6 महीनों का Biometric authentication रिकॉर्ड मिलेगा यहां

अब जो पेज आपके सामने खुलेगा, उस पर टॉप लेफ्ट साइड में एक नोटिस लगा होगा। इसमें लिखा है कि आप पिछले 6 महीनों के दौरान किए गए Biometric authentication के मैक्सिमम 50 रिकॉर्ड देख सकते हैं। यानि कि यहां आपको यह पता चलेगा कि किस दिन और तारीख को आपने आधार लिंकिंग के लिए UIDAI पर ट्रांजेक्‍शन किया था।

आपका आधार नंबर कहीं मिसयूज तो नहीं हो रहा? 1 मिनट में जानिए यहां...

4- OTP डालें और ट्रांसेक्‍शन डीटेल भरें

इस पेज पर आपको Biometric authentication की डीटेल्‍स के लिए पिछली समयावधि और ट्रांजेक्‍शन टाइप और फोन पर आए ओटीपी को यहां भरना होगा।

फिंगरप्रिंट और आईरिश सहित दो और चीजों से होगा आधार ऑथेंटिकेशन, कोई मांगें तो आधार नंबर नहीं दें वर्चुअल आईडी

5- यहां दिखेंगे Biometric authentication के सभी रिकॉर्ड

फाइनली अब जो पेज खुलेगा, उस पर पिछले महीनों के दौरान आपके द्वारा किए गए बायोमेट्रिक ट्रांजेक्‍शन की पूरी डीटेल्‍स मिलेगी। जिसमें तारीख, समय, ट्रांजेक्‍शन टाइप, रिसपॉन्‍स कोड सब कुछ होगा। अगर इस रिकॉर्ड में कुछ गड़बड़ या संदिग्‍ध लगे तो इस संबध में आप UIDAI की हेल्‍पलाइन पर संपर्क कर सकते हैं। वैसे बता दें कि जब भी आप कोई Biometric authentication प्रोसेस करते हैं तो UIDAI तुरंत ही आपकी ईमेल आईडी पर इससे जुड़ी एक मेल भेजता है। इसलिए कभी भी Biometric authentication करने के बाद अपनी ईमेल जरूर चेक कर लें। अगर बिना ट्रांजेक्‍शन के ऐसी कोई ईमेल मिले, तो तुंरत UIDAI को सूचित करें।

आपका आधार नंबर कहीं मिसयूज तो नहीं हो रहा? 1 मिनट में जानिए यहां...


सिक्‍योर और सेफ : 1 जून से आधार नंबर नहीं वर्चुअल आईडी देनी होगी

Technology News inextlive from Technology News Desk