इनके नाम पर रखा गया नाम
इस मिशन का नाम अमरीका के रहने वाले चर्चित खगोलशास्त्री यूजीन पार्कर के नाम पर रखा गया है। बताया जाता है कि पार्कर ने साल 1958 में यह बताया था कि अंतरिक्ष में सौर तूफान भी है। बता दें कि मानव इतिहास का सूर्य की ओर यह पहला मिशन है। नासा के पार्कर सोलर प्रोब मिशन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। कहा जा रहा है कि इस मिशन की लॉन्चिंग 31 जुलाई को होगी।

मिशन में आम लोग भी हो सकते हैं शामिल
दरअसल, नासा ने अपने इस मिशन में आम लोगों को भी शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है। इस यान का हिस्सा बनने के लिए नासा की ऑफिसियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। रजिस्ट्रेशन के बाद नासा की ओर से एक सर्टिफिकेट दिया जायेगा। इसके बाद लकी ड्रॉ के आधार पर व्यक्ति का सेलेक्शन होगा।

इतिहास का पहला मिशन

पार्कर सोलर प्रोब मानव इतिहास का सूर्य की ओर पहला मिशन है। बताया जा रहा है कि लॉन्चिंग के तुरंत बाद यह सौर वातावरण की कक्षा में पहुंच जाएगा, जिसे असल में कोरोना कहते हैं। यह यान ऐसे इलाके में जाएगा, जिसे इंसान ने पहले कभी नहीं देखा। यह मिशन उन सवालों के जवाब खोजेगा, जिनके बारे में अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है।

यहां से लॉन्च होगा मिशन
पार्कर सोलर प्रोब को फ्लोरिडा में नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा। इस मिशन के प्रॉजेक्ट मैनेजर ऐंडी ड्राइसमैन ने मीडिया से बातचत करते हुए कहा कि 'पार्कर सोलर प्रोब को तैयार करने के लिए हमारी टीम खूब मेहनत करनी होगी।'

International News inextlive from World News Desk