अगर आपका फोन चोरी हो जाए तो जरूर करें ये काम

By: Inextlive | Publish Date: Sat 30-Sep-2017 11:05:31
A- A+
अगर आपका फोन चोरी हो जाए तो जरूर करें ये काम
फोन को कितना भी संभाल कर रखें, चोरी होने का डर हमेशा बना रहता है। अगर आपका फोन खो जाए या फिर कोई चोरी कर ले, तो जानें आपको क्या करना चाहिए..

आज मोबाइल सबसे जरूरी चीज बन गई है। इस पर ही आपका सारा काम निर्भर हो गया है। इसलिए फोन को बेहद संभाल कर रखते हैं। बावजूद इसके हर वक्त फोन चोरी होने का खतरा बना होता है। आप बस में हों या फिर मेट्रो में। कार में या फिर बाइक पर कहीं भी आपका फोन सुरक्षित नहीं है। बल्कि आज कल एक नया गिरोह सक्ति्रय हो गया है, जो एक तरफ आपके कार की खिड़की पर दस्तक देता है और दूसरी ओर से एक व्यक्ति आपका फोन उड़ा ले जाता है। ऐसे में फोन को लेकर सजग रहने की बेहद जरूरत है। इसके साथ ही यह जानने की भी जरूरत है कि यदि फोन चोरी हो जाए तो त्वरित उपाय क्या करें।

 

एंड्रॉयड फोन

फोन को करें ट्रैक: मोबाइल चोरी होते या गुम होते ही आप यही सोचते हैं कि कैसे सिम लॉक करें, जबकि इससे बेहतर है कि आप यह जांचे कि आपका फोन इस वक्त कहां है। यदि गुम हुआ है तो रिंग कर उसे पा सकते हैं। वहीं चोरी हुआ है, तो आप लास्ट लोकेशन देख सकते हैं। एंड्रॉयड स्माटज्फोन में ट्रैक माई फोन का फीचर होता है। ट्रैक माई फोन का विकल्प एंड्रॉयड फोन में डिवाइस मैनेजर से मिलता है। आप यहीं सोच रहे होंगे कि चोरी हुए

 

फोन में डिवाइस मैनेजर कैसे देखें: आपको बता दें कि इस फीचर का उपयोग आप किसी लैपटॉप, कंप्यूटर या फिर किसी दूसरे मोबाइल से भी कर सकते हैं। एंड्रॉयड फोन इंस्टॉल के समय आप गूगल आइडी डालते हैं और उसी वक्त ट्रैक माई फोन एक्टिव हो जाता है। फोन की सेटिंग में जा कर सिक्योरिटी से इसे देखा जा सकता है।

 

चोरी हुए फोन को ट्रैक करने के लिए आप किसी लैपटॉप या कंप्यूटर पर गूगल में जाकर ट्रैक माई फोन लिखकर सचज् करेंगे तो सबसे पहला विकल्प गूगल डैशबोडज् का आएगा। यहां आपको उसी एकाउंट से लॉगइन करना है, जिसे आपने अपने चोरी या गुम हुए फोन में इंटीग्रेट किया था। इसके साथ ही आपके सामने फोन ट्रैक का ऑप्शन मिल जाएगा और आप लास्ट लोकेशन देख सकते हैं।

 

यदि एंड्रॉयड फोन से कर रहे हैं, तो सबसे पहले आप उस फोन में एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर ऐप को डाउनलोड करें और अपने गूगल आइडी से लॉगइन करें। इसके साथ ही आपके सामने फोन का लास्ट लोकेशन होगा।

 

फोन पर करें रिंग : डिवाइस मैनेजर से आप लॉगइन करते हैं तो लैपटॉप और फोन दोनों जगह गुम या चोरी हुए फोन पर रिंग का ऑप्शन आएगा। आप रिंग कर इसे देख सकते हैं। यदि आपके आस पास है तो आप उसे ढूंढ़ सकते हैं।

 

डाटा करें नष्ट : यदि रिंग में पता नहीं चला कि फोन कहां है तो आप समझ जाएं कि फोन चोरी हो गया है और तुरंत डाटा नष्ट करें। ट्रैक माईफोन के बाद दूसरा स्टेप डाटा नष्ट करने का होना चाहिए। आप अपने एंड्रॉयड फोन के सभी डाटा को रिमोटली डिलीट कर सकते हैं। आप इस काम को किसी दूसरे पीसी या फोन से अंजाम दे सकते हैं। दूसरे डिवाइस से एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर में लॉगइन करेंगे, तो सामने ही इरेज डाटा का विकल्प मिलेगा। इस पर क्लिक करते ही फोन में उपलब्ध सभी डाटा नष्ट हो जाएंगे। इतना ही नहीं, आपके पास गुम हुए फोन का पासवडज् बदलने का भी विकल्प होगा।

 

दे सकते हैं चेतावनी : एंड्रॉयड फोन में ऑप्शन है जिसके माध्यम से आप अपने चोरी हुए फोन पर अपना मैसेज या चेतावनी दे सकते हैं। यदि आपको लगता है कि आपका फोन आपको वापस मिल सकता है तो आप मैसेज में वैकल्पिक नंबर भी दे सकते हैं जिससे वह आपसे कॉन्टैक्ट कर सके। ये सभी फीचर आपको एंड्रॉयड डिवाइस मैनेजर में मिलेंगे।

 

आइफोन

यदि आपका आइफोन खो या फिर चोरी हो जाता है, तो आप उसे ऐसे ट्रैक कर सकते हैं।

 

फोन को करें ट्रैक: जब आप अपना आइफोन इंस्टॉल कर रहे होते हैं, तो उसमें आइक्लाउ आइडी इंटीग्रेट करते हैं। ऐसे में फोन चोरी होने या गुम होने की स्थिति में यही आइडी और पासवडज् आपके काम आएगा। आप किसी भी फोन या पीसी पर इससे लॉगइन कर सकते हैं। पीसी पर आइक्लाउ डैशबोडज् का सहारा लिया जा सकता है, जबकि मोबाइल के लिए आप फाइंड माई फोन का ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। इसमें अपने ऐपल आइक्लाउड आइडी से लॉगइन करने के साथ ही लास्ट लोकेशन दिखाई देगा। इसके अलावा, आप लोकेशन हिस्ट्री भी देख सकते हैं।

 

फोन पर करें रिंग : यहां भी आपको गुम हुए फोन को रिंग कर ढूढ़ने का विकल्प मिलेगा। आप दो मिनट तक फुल साउंड में अपने फोन को रिंग कर सकते हैं।

 

डाटा करें नष्ट : यदि आपको विश्र्वास हो गया कि फोन नहीं मिलेगा तो आप वहीं से फोन में उपलब्ध सभी तरह के डाटा को पूरी तरह से नष्ट कर सकते हैं। किसी दूसरे मैकबुक, आइफोन सहित अन्य इंटरनेट कनेक्टेड डिवाइस से यह संभव है।

 

बदल सकते हैं पासवर्ड : आप चाहें तो फाइंड माइफोन ऐप से ही अपने खोए हुए आइफोन का पासवडज् बदल सकते हैं। इतना ही नहीं, फोन स्क्त्रीन पर मैसेज या चेतावनी भी दे सकते हैं।

 

इंडिया में लॉन्च हुआ दुनिया का पहला फिजेट स्पिनर मोबाइल फोन, ऐसा फोन जो आपको करेगा टेंशन फ्री

 

कुछ अन्य सावधानियां

 

फोन चोरी होने या गुम होने के बाद यदि फोन मिलने की आशा नहीं है तो आप डाटा डिलीट कर सकते हैं। परंतु इतने से ही काम नहीं होता। कुछ और भी प्रक्ति्रया है जिसे जानना जरूरी है।

 

एकाउंट करें अनलिंक

आप अपने मोबाइल फोन के साथ सोशल और बैकिंग सहित कई एकाउंट को लिंक करते हैं। ऐसे में आप को उन एकाउंट को अनलिंक करना भी जरूरी है। एंड्रॉयड फोन हो या आइफोन आपका जीमेल एकाउंट से ही आज ड्राप बॉक्स, गूगल ड्राइव और वाट्सऐप सहित कई दूसरे एकाउंट लिंक होते हैं, आप उन्हें अन लिंक करें। एंड्रॉयड फोन के लिए जब आप किसी पीसी या लैपटॉप से जीमेल एकाउंट में लॉगइन करेंगे तो दाहिनी ओर फोटो आता है। आपको उस पर क्लिक करना है। इसमें प्रोफाइल और प्राइवेसी का विकल्प मिलेगा उसे ओपन करें। एक्टिविटी पेज खुलेगा, जहां से आप सभी एकाउंट और एक्टिविटी में जाकर सभी लिंक एकाउंट को अनलिंक कर सकते हैं।

 

इसी तरह आइफोन के लिए आप जब किसी मैकबुक या किसी आइफोन डिवाइस से आइक्लाउड में लॉगइन करेंगे तो सेटिंग में एकाउंट का विकल्प आएगा। आप वहां से अपने सभी एकाउंट को अनलिंक कर सकते हैं। आप चाहें तो डिवाइस को भी अपने आइक्लाउड एकाउंट से रिमूव कर सकते हैं। यदि यह काम आइफोन से कर रहे हैं, तो सेटिंग में जाकर आपको आपका नाम दिखाई देगा। उस पर क्लिक करें। वहां डिवाइस की लिस्ट आ जाएगी आपको उस डिवाइस से फाइंड माइफोन को अनचेक कर देना है। यदि आप मैक पीसी से कर रहे हैं तो आपको ऐपल मैन्यू में जाना है। वहां से सिस्टम प्रीफेंस का चुनाव करना है और फिर कनेक्टेड डिवाइस को रिमूव कर देना है। इस तरह प्रक्ति्रया पूरी होती है।

 

सिर्फ 3 साल बाद आप 4G को भूल जाएंगे, क्‍योंकि तब इंडिया में शुरू होगी 1 GBPS वाली 5जी सर्विस

बदलें सभी का पासवर्ड

याद रहे कि आप सजग रहेंगे तभी सुरक्षित रह सकते हैं। इसलिए कोई भी छोटी मोटी कमी न छोड़े। बताए गए स्टेप के बाद आप अपने सभी एकाउंट का पासवडज् बदलना न भूलें। आइक्लाउड, जीमेल, सोशल नेटवकिंज्ग और बैकिंग एकाउंट का पासवडज् तुरंत बदलें।

 

अब कराएं सिम ब्लॉक

इन सबके बाद आप अपने ऑपरेटर को कॉल कर तुरंत अपना सिम ब्लॉक कराएं और नया सिम लें। जिससे कि जरूरी जानकारी सभी को दे सकें। इतना ही नहीं हो सके तो किसी दूसरे पीसी या मोबाइल से अपने सोशल एकाउंट पर इस बात की जानकारी दे दें ताकि आपके जानने वाले परेशान न हों।

 

एफआइआर

भारत में ज्यादातर लोक फोन खो जाने की स्थिति में थाने की चक्कर सोच कर एफआइआर नहीं कराते। वहीं कई लोग यही सोचकर नहीं जाते कि फोन तो मिलना है नहीं, तो रिपोटज् का कोई फायदा नहीं है। परंतु ऐसा सोचना गलत है। आज फोन का आइएमइआइ नंबर मोबाइल नंबर के साथ रजिस्टर होता है। ऐसे में चोरी हुए फोन से कुछ अनैतिक होता है तो आप फंस सकते हैं। इसलिए चोरी की रिपोटज् जरूर कराएं। फोन एफआइआर में फोन का आइएमइआइ नंबर भी जरूर डालें।


FB ऐप में दिखा WhatsApp बटन, जानिए Facebook का फ्यूचर प्‍लान


कैसे बदले जा रहे हैं आइएमइआइ नंबर

आपने अक्सर सुना होगा कि आइएमइआइ नंबर के माध्यम से चोरी हुए फोन को ट्रैक किया जा सकता है। परंतु शायद आपको यह नहीं मालूम है कि आज कई ऐसे सॉफ्टवेयर हैं, जिनकी मदद से आइएमइआइ नंबर को बदला जा सकता है। इस बारे में मोबाइल रिपेयर से जुड़े बादल घई कहते हैं कि आज लगभग हर बड़े शहर में ऐसे शॉप हैं जहां गुपचुप तरीके से मोबाइल का आइएमइआइ नंबर बदलने का काम करते हैं। यह काम ज्यादा मुश्किल भी नहीं है। इंटरनेट पर कुछ टूल्स उपलब्ध हैं, जिनके माध्यम से आइएमइआइ नंबर बदला जा सकता है और साथ ही फोन की पुरानी आईडेंटिटी भी छुपाई जा सकती है। इसके लिए एक्सपोज फ्रेमवकज्, डंकी गाडज् ऐप, हाईडमाई रूट ऐप और आइएमइआइ चेंजर जैसे ऐप्स का सहारा लेते हैं।

Technology News inextlive from Technology News Desk