एग्रीकॉन में रजिस्ट्रेशन के नाम पर वसूली

By: Inextlive | Publish Date: Thu 15-Feb-2018 12:48:23   |  Modified Date: Thu 15-Feb-2018 12:49:33
A- A+
एग्रीकॉन में रजिस्ट्रेशन के नाम पर वसूली
kanpur@inext.co.in KANPUR: सीएसए में शुरू हुई जिस इंटरनेशनल कांफ्रेंस एग्रीकॉन-2018 का इनॉग्रेशन प्रेसीडेंट रामनाथ कोविंद ने किया, उसके लिए रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर भी घालमेल किया गया. किसी साइंटिस्ट से रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर 8 हजार रुपए लिए गए तो किसी से 10 हजार. कांफ्रेंस में किसानों की आय को बढ़ाने को लेकर चर्चा होनी है लेकिन कांफ्रेंस के नाम पर प्रतिनिधियों से वसूली की गई. कृषि विज्ञान केन्द्र खीरी लखीमपुर के प्रतिनिधि की रसीद संख्या 248 में रजिस्ट्रेशन फीस 10 हजार रुपए ली गई जबकि कृषि विज्ञान केन्द्र हाथरस के प्रतिनिधि की रसीद संख्या 053 में रजिस्ट्रेशन फीस 8 हजार रुपए ली गई.

- रजिस्ट्रेश फीस के नाम पर किसी से 8 हजार तो किसी से 10 हजार वसूले

प्रो. नरेंद्रहन को एक्सीलेंस इन साइंस अवार्ड
सीएसए में इंटरनेशनल कांफ्रेंस के दौरान प्रेसीडेंट रामनाथ कोविंद ने एनएसआई डायरेक्टर प्रो. नरेन्द्र मोहन को एक्सीलेंस इन साइंस अवार्ड से नवाजा. प्रो नरेन्द्र मोहन ने बताया कि प्रेसीडेंट ने इंस्टीट्यूट के स्टाल पर आकर एक-एक जानकारी हासिल की. इंस्टीट्यूट शुगर इंडस्ट्री को डेवलप करने में किस तरह मदद कर रहा है, कौन सी नई टेक्नोॅजी को डेवलप किया है. बाजार की चीनी के अलावा 20 प्रजाति की चीनी स्टाल में रखी गई थी. इंस्टीट्यूट प्रति वर्ष 7 स्टैंडर्ड बनाता है.

इसके बारे में कोई जानकारी नहीं
इंटरनेशनल कांफ्रेंस एग्रीकॉन 2018 में स्टूडेंट के लिए रजिस्ट्रेशन फीस 4 हजार रुपए जबकि अन्य लोगों के लिए रजिस्ट्रेशन फीस 8 हजार रुपए रखी गई है. किसी ने फीस ज्यादा क्यों ली है यह तो वही बता सकता है. मुझे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है.
प्रो. वेदरतन, मीडिया प्रभारी सीएसए