कैसे किडनैप हुआ कुत्‍ता

कुत्‍ते अपहरण का मामला पूरी तरह से फिल्‍मी स्‍टाइल में अंजाम दिया गया है। नोएडा के सेक्‍टर 93 में रहने वाले एक उद्योगपति चिंतन तिवारी के पास अमेरिकन बुली नस्‍ल का एक कुत्‍ता है। बुधवार शाम को करीब 6 बजे, घर का नौकर बिल्डिंग के बाहर रोड पर कुत्‍ते की जंजीर थामे उसे टहला रहा था। तभी सड़क पर चलते हुए 4 संदिग्‍ध युवक इस कुत्‍ते के नजदीक आकर उसे दुलारने लगे। पहले तो नौकर ने कुछ नहीं कहा, लेकिन कुछ सेकेंड बाद जब नौकर ने कुत्‍ते को छोड़ने को कहा, तो उनमें से एक युवक ने चाकू निकाल लिया और नौकर को धमकाते हुए कुत्‍ते को उठा ले गए।

बेचारे मालिक का हुआ बुरा हाल

जब कुत्‍ते के अपहरण की खबर उसके माकिल यानि उद्योगपति चिंतन तिवारी ने सुनी तो उनका दिल ही बैठ गया। बताया जा रहा है। अमेरिकन बुली ब्रीड का यह कुत्‍ता पिछले 3 साल से ज्‍यादा वक्‍त से इस घर में था। घर में इस कुत्‍ते को 'प्रॉमिस' नाम से पुकारा जाता था। इतने सालों में प्रॉमिस तो जैसे घर का एक खास सदस्‍य बन गया था। नोएडा के सेक्‍टर 93 स्थित ओमैक्स फॉरेस्ट स्पा सोसाइटी में रहने वाले फैक्‍टरी मालिक चिंतन तिवारी अपने प्‍यार कुत्‍ते प्रॉमिस को गंवाकर बेहद दुखी हैं।

बैंक नहीं, डिजिटल वैलेट मोबिक्विक के साथ कर डाला 20 करोड़ का फ्रॉड, 6 हजार खातों में गया पैसा

चाकू की नोक पर कुत्‍ता हुआ किडनैप! मालिक ने रखा 50 हजार का ईनाम

दो दो पत्नियों से छुटकारा पाने के लिए किया ऐसा काम जो दहला देगा आपको

FIR के अलावा कुत्‍ते के लिए रखा 50 हजार का नकद ईनाम

चिंतन तिवारी ने अगले ही रोज नजदीकी पुलिस थाने में अपने कुत्‍ते के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करा दी। इस पर भी उन्‍हें जब संतोष नहीं हुआ तो उन्‍होंने अपने कुत्‍ते को खोजकर वापस लाने के वास्‍ते अखबार में बड़ा सा ऐड भी दे दिया। न्‍यूज पेपर में इंग्लिश में छपे इस विज्ञापन में साफतौर पर लिखा है कि कोई भी व्‍यक्ति इस कुत्‍ते का पता बताए या वापस ले आए तो उससे बिना किसी पूछताछ के उसे 50 हजार रुपए ईनाम दिया जाएगा। इस खबर को पढ़कर शायद कुछ लोग यह भी सोच रहे होंगे कि किस्‍मत हो तो 'प्रॉमिस' जैसी। वैसे आपको बता दें कि अभी तक कुत्‍ते की कोई जानकारी नहीं मिली है।

आपके फोन को छूने की हिम्मत कोई नहीं करेगा बस कर लीजिए ये छोटा सा काम!

Crime News inextlive from Crime News Desk