बेटी हुई आजाद, अब सुरक्षित

By: Inextlive | Publish Date: Thu 12-Oct-2017 07:01:11
A- A+
बेटी हुई आजाद, अब सुरक्षित

- पुलिस ने आधी रात रिहा करा एसडीएम के समक्ष कराए बयान

- युवती ने शिकायत की बात की कबूल और कहा अब में सुरक्षित

इंपेक्ट

बरेली:

साफ्टवेयर इंजीनियर युवती को पुलिस ने ट्यूजडे रात आजादी दिला दी। युवती को एसडीएम रिछा के सामने पेश पेश किया गया। अपने बयान में युवती ने यूपी 100 पर कॉल करने और मानसिक अवसाद में होने की बात कही, साथ ही खुद को अब सुरक्षित बता घर वालों पर पहले जो आरोप लगाए थे, उन्हें वापस ले लिया। उसने अपनी नानी के साथ जाने की इच्छा जताई। इस पर एसडीएम ने उसे नानी की अभिरक्षा में सौंप दिया है। दूसरी तरफ युवती के पिता और अन्य परिजनों ने कभी उसे परेशान न करने की बात कही है।

आधी रात मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश-

बरेली की एक निजी यूनिवर्सिटी में सॉफ्टवेयर डेवलपर युवती को रिछा से लाकर सीओ बहेड़ी जोगेन्द्र कुमार ने टूयजडे रात बहेड़ी एसडीएम के समक्ष पेश किया। युवती ने एसडीएम को दिए बयानों में युवती ने पूरा वृतांत बताया। उसने खुद को इंवर्टिस यूनिवर्सिटी में साफ्टवेयर डेवलपर बताया। पहले घर से रोज यूनिवर्सिटी जाने फिर काम की अधिकता के चलते वहीं रहने लगने की बात कही। दशहरे की छुट्टी में घर आने पर उसने 4 अक्टूबर को डायल 100 पर सूचना देने की बात कबूली। साथ ही, कहा कि उस समय मैं मानसिक अवसाद में थी। ठीक से याद भी नहीं कि क्या कहा था। घर वालों पर उसने जो आरोप लगाए थे, वे अब वापस ले लिए। परिवार और मामा से अब मेरे रिश्ते अच्छे हैं। उसने इंवर्टिस यूनिवर्सिटी के कुछ गोपनीय सिस्टम पासवर्ड खुद के पास होने की बात भी कही।

नानी के साथ सुरक्षित:-

एसडीएम के समक्ष युवती ने अपने बयानों के अंत में राजी से अपनी नानी के साथ जाने पर सहमति दी। इस पर एसडीएम बहेड़ी ने आधी रात में ही युवती को नानी की अभिरक्षा में सौंप दिया।

पिता बोले बेटी सुरक्षित:

साफ्टवेयर इंजीनियर युवती के पिता ने दैनिक जागरण आई नेक्स्ट को बताया कि उनकी बेटी इंवर्टिस यूनिवर्सिटी में काम करती थी। काम के प्रेशर की वजह से वह अवसाद में आ गई थी। ऐसे में उसे पता नहीं था कि उसने क्या कर दिया। वह सुरक्षित थी और सुरक्षित है.

गर्ल चाइल्ड डे पर बेटी की जीत -

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट में टयूजडे को सॉफ्टवेयर इंजीनियर युवती को अगवा कर पूर्व मंत्री के टॉर्चर का समाचार प्रकाशित किया था। युवती के कुछ परिचितों ने इस समाचार को यूपी पुलिस के ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया था। यूपी पुलिस ने मामले में बरेली पुलिस को एक्शन के डायरेक्शन दिए थे। तब पुलिस जागी और युवती को रिहा करा एसडीएम के समक्ष पेश किया। बरेलियंस ने गर्ल चाइल्ड डे पर बेटी के आजाद और सुरक्षित होने को बड़ी जीत बताया.

inextlive from Bareilly News Desk