Apple ने डेवलप कर ली है बिना तार के दूर से मोबाइल चार्ज करने की तकनीक
हाल ही में iPhone बनाने वाली कंपनी ऐपल ने अमेरिका में मोबाइल चार्जर का एक ऐसा पेटेंट रजिस्टर करने को फाइल किया है जिसमें एक वायरलेस टाइप का बैटरी चार्जर घर या ऑफिस में कहीं दूर रखें iPhone को बिना तार के ही चार्ज कर सकेगा। बिना तार के बिजली का ट्रांसमिशन करने वाला यह अपनी तरह का दुनिया का पहला और सबसे अनोखा स्मार्टफोन बैटरी चार्जर होगा। इससे पहले जो भी वाईफाई मोबाइल चार्जर बाजार में आ रहे हैं, उनमें डिवाइस को वाईफाई चार्जर के ऊपर निर्धारित जगह पर रखना होता है। पर ऐपल के इस नए आने वाले चार्जर से फोन हाथ में लेकर टहलते हुए भी आप अपने फोन चार्ज कर सकते हैं।

यह चार्जर चलेगा असली wi-fi पर! यानि पूरे घर के फोन दूर बैठकर ही हो जाएंगे चार्ज

Truecaller भूल जाएंगे, क्‍यों‍कि यह ऐप है उससे कई गुना जानदार

एक ही चार्जर से एक साथ चार्ज हो सकेंगी कई स्‍मार्ट-डिवायसेस
आई एन एस की एक रिपोर्ट के मुताबिक एप्पल कंपनी ने अमेरिका के पेटेंट और ट्रेडमार्क ऑफिस में अपने एक फ्यूचर बैटरी चार्जर को लेकर पेटेंट फाइल किया है। इस पेटेंट एप्लीकेशन में मौजूद तमाम जानकारियों के मुताबिक यह बात सामने आई है, कि यह चार्जर पूरी तरह से वायरलेस चार्जिंग सिस्टम पर काम करेगा। इस चार्जर द्वारा iPhone या एप्पल की किसी भी डिवाइस को चार्ज करने के लिए उसे चार्जर के साथ फिजिकली यानी तार से कनेक्ट करने की जरूरत नहीं होगी। फोन घर या कमरे के भीतर एक निर्धारित रेंज में कहीं पर भी रखा हो यह चार्जर खुद बिजली से कनेक्ट होकर उसे वायरलेस में पावर सेंड करेगा और वह फोन डिवाइस वहीं रखे रखे या यूज़ होते हुए भी चार्ज होती रहेगी।

यह चार्जर चलेगा असली wi-fi पर! यानि पूरे घर के फोन दूर बैठकर ही हो जाएंगे चार्ज


ताली बजाते ही आपका मिसिंग फोन खुद बताएगा कि मैं यहां हूं! ये होगा कैसे जानिए बस 2 मिनट में

चार्जर डिसाइड करेगा, कि किस डिवायस को पहले और किसे लास्‍ट में चार्ज करना है
इस अनोखे बैटरी चार्जर में रेडियो फ्रीक्वेंसी बेस्ड वायरलेस चार्जिंग तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इस चार्जिंग सिस्टम को लेकर हाल ही में अमेरिका के सेंट्रल कम्युनिकेशन कमीशन यानी एफसीसी ने सुरक्षा मानकों पर टेस्ट करने के बाद इस वायरलेस चार्जिंग तकनीक को पास कर दिया है। यानी कि अब मोबाइल कंपनियां वायरलेस चार्जिंग सिस्टम पर आधारित चार्जर बाजार में उतार सकेंगी। इसकी सबसे पहले शुरुआत करने जा रहा है Apple। भविष्य के इस चार्जर में यह भी सुविधा होगी कि यह डिसाइड कर सकेगा कि अलग-अलग फोन डिवाइसेस में से सबसे पहले किसे चार्ज करना है और सबसे लास्ट में कौन सी डिवाइस चार्ज की जानी है। फिलहाल कंपनी ने चार्जिंग के क्रम को लेकर जो जानकारी दी है उसमें यह बात पता चली है कि ये वायरलेस चार्जर सबसे पहले iPhone उसके बाद एप्पल वॉच और उसके बाद आईपैड को चार्ज करेगा। आम यूजर इस टेक्नोलॉजी को घर भर के सारे फोन में कैसे यूज कर पाएंगे यह जल्दी पता चलने की उम्मीद है।

अगर आप भी अपने फोन में रखते हैं गोपनीय डाटा तो एडवर्ड स्नोडेन की बनाई यह ऐप आपको खुश कर देगी!

Technology News inextlive from Technology News Desk