हार जीत से बड़े हैं IPL 10 के ये लम्‍हे, जब बीच मैच में रैना ने चूमा ऋषभ का हाथ

By: Inextlive | Publish Date: Tue 16-May-2017 01:59:24
A- A+
हार जीत से बड़े हैं  IPL 10 के ये लम्‍हे, जब बीच मैच में रैना ने चूमा ऋषभ का हाथ
जंग के मैदान और खेल के मैदान में ज्‍यादा फर्क नहीं होता है। जंग में सैनिक लड़ते हैं और मैदाम में खिलाड़ी अपनी जीत के लिये। कभी जावेद मियांदाद किसी डेनिस लिली की ओर बल्ला लेकर कूदने को आतुर हो जाता है तो कभी गौतम गंभीर शेन वॉटसन के पेट में कोहनी मार देते हैं। हम आप को आज आईपीएल 10 के कुछ ऐसे बेहतरीन किस्‍सों के बारे में बताने जा रहे हैं जो हमेशा याद किये जायेंगे।

1- डेनियल क्रिश्चेन और कोल्टर-नाइल
मैच कोलकाता नाइट राइडर्स और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के बीच था। डेनियल की एक गेंद जाकर सीधे कोल्टर-नाइल के हेलमेट पर जा लगी। गेंद की स्पीड थी 142 किलोमीटर प्रति घंटा। कोल्टर जब तक बॉल मारने के लिये तैयार हुये गेंद आकर खटाक की आवाज के साथ उनके मुंह के ठीक सामने लगी ग्रिल से टकराई। ग्रिल ने कोल्टर नील को बचा लिया। गेंद उनके हेलमेट पर पड़ते ही वो झटके के साथ पिच से अलग हो गए। डेनियल क्रिश्चेन दौड़कर कोल्टर-नील के पास पहुंचे। उनका हाल पूछा। कोल्टर के पास थोड़ी ही देर में सभी आ गए। पुणे की टीम का कोल्टर के पास आना और ये चेक करना कि उन्हें कोई चोट तो नहीं लगी, खेल में विश्वास जगाता है।



2- सुरेश रैना और ऋषभ पन्त
मैच था गुजरात लॉयंस और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच। ऋषभ पन्त 97 रन पर बैटिंग कर रहे थे। दिल्ली को अच्‍छे स्‍कोर पर पहुंचा दिया था। 34 गेंदों पर 30 रन चाहिए थे। किसी भी तरीके से दिल्ली हारती नहीं दिख रही थी। खुद सेंचुरी के करीब पहुंचे ऋषभ ने एक गलत शॉट खेला और कीपर ने कैच कर लिया। ऋषभ मुंह बना के खड़े हो गए। उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि वो सेंचुरी से चूक गए हैं। तभी उनके पास गुजरात की टीम के कप्तान सुरेश रैना आये। रैना ने दोनों हाथों से ऋषभ को पुचकारा। ऋषभ ने भी रैना से कुछ कहा। रैना ने एक थपकी दी और ऋषभ पवेलियन की ओर कूच कर चुके थे। रैना ने सीनियर प्लेयर होने के नाते एक बढ़िया उदाहरण दिया।


3- हाशिम आमला और आरसीबी
हाशिम आमला बैटिंग पर थे। पंजाब के मात्र 2 रन बन पाए थे। आमला ने खुद 1 रन बनाया था। अनिकेत चौधरी ने गेंद फेंकी और हाशिम के बल्ले को मिस करती हुई कीपर के ग्लव्स में चली गई। किसी ने भी अपील नहीं की। लेकिन तभी सब ने देखा कि हाशिम आमला बल्ला उठाये चले जा रहे हैं। मालूम चला कि गेंद आमला के बल्ले के किनारे से लगकर गई थी। आमला ने बिना अम्पायर के इशारे का इंतज़ार किये जाना उचित समझा। ये वो खिलाड़ी है जो खेल को दिल से खेलता है।


4- डेविड वॉर्नर और बेसिल थेम्पी
सनराइजर्स हैदराबाद वर्सेज गुजरात लॉयंस के बीच में मैच था। हैदराबाद के मैदान पर खेला जा रहा आईपीएल के दसवें सीजन का पांचवां मैच था। डेविड वॉर्नर नॉन-स्ट्राइकिंग एंड पर खड़े हुए थे। गेंद बेसिल थेम्पी के हाथ में थी। दूसरे एंड पर बैटिंग कर रहे थे हेनरिकेस। थेम्पी ने गेंद फेंकी और गेंद पिच के दूसरे छोर से निकली। थेम्पी ने पूरी ताकत लगाकर अपने फॉलो-थ्रू में गेंद को पकड़ने की कोशिश की लेकिन पकड़ नहीं पाए। इस पूरे प्रोसेस में उनका जूता निकल गया। उधर वॉर्नर रन लेने के लिए निकल पड़े थे। रास्ते में उन्हें जूता पड़ा दिख गया। वॉर्नर ने जूता उठाया जल्दी से थेम्पी को दिया और फिर से दौड़ पड़े।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk