- चार घंटे तक जाम से जूझते रहे लोग, एसपी को उतरना पड़ा रोड पर

- हजरतगंज चौराहे समेत वीआईपी रूट पर रेंगते रहे वाहन

- वीवीआईपी गेस्ट हाउस के पास एसपी ने ट्रैफिक को संभाला

- सात किमी तक रहा जाम, राजधानी में बढ़ा दस गुना ट्रैफिक

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : राजधानी में संडे को चार घंटे तक वीआईपी इलाके में भीषण जाम से लोगों को रुबरू होना पड़ा. सुबह 11 से 1 बजे और दोपहर 3 से 5 बजे तक शहर में निकलने वाले कई रास्तों में जाम की स्थिति से जूझना पड़ा. खासतौर पर वीआईपी गेस्ट हाउस, हजरतगंज, राजभवन और सीएम आवास के आस-पास भीषण जमा लगा रहा. ट्रैफिक पुलिस की व्यवस्था फेल होने पर सिविल पुलिस के कई अफसरों को रोड पर उतरकर जाम खुलवाना पड़ा.

शपथ ग्रहण के चलते बढ़ा ट्रैफिक लोड

संडे का सीएम और मंत्री मंडल के शपथ ग्रहण के चलते सुबह से ही अचानक राजधानी में ट्रैफिक लोड बढ़ गया. ट्रैफिक डिपार्टमेंट के अधिकारियों के अनुसार यह रोज की अपेक्षा दस गुना था. ट्रैफिक लोड केवल शहर के चुनिंदा हिस्सा में बढ़ने के चलते जाम की स्थिति से लोगों को जूझना पड़ा. हालांकि कार्यक्रम के मद्देनजर ट्रैफिक डिपार्टमेंट ने डायवर्जन की व्यवस्था की थी लेकिन कई हिस्से में डायवर्जन स्कीम पूरी तरह फैल नजर आई.

इन इलाकों में जाम से परेशान रहे लोग

- हजरतगंज से चारबाग

- हजरतगंज से राजभवन रोड

- राजभवन से सीएम आवास व लोहिया पथ

- सीएम आवास से आवास विकास पुल

- अर्जुनगंज चौराहे से गोसाईगंज जाने वाले मार्ग

- कैंट से तेलीबाग रुट पर

- आशियाना इलाके में कई जगह लोग जाम से परेशान रहे

एसपी को उतरना पड़ा जाम खुलवाने के लिए

महात्मा गांधी मार्ग पर दोपहर करीब एक बजे भीषण जाम लगा गया. चौराहे से चारों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगा गई. जो जहां तक वहीं फंस गया. वीवीआईपी मूवमेंट के साथ पुलिस के भी हाथ-पांव फूल गए. बंदरिया बाग चौराहे पर तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मी भी जाम खुलवाने में नाम साबित हुए. जाम की सूचना पाकर एसपी वेस्ट जय जय प्रकाश, एसपी टीजी दुर्गेश कुमार, इंस्पेक्टर कैसरबाग आनंद शाही और इंस्पेक्टर नाका जय प्रकाश ने मोर्चा संभाला और ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की मदद से करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद जाम खुलवाकर ट्रैफिक को चालू कराया.