-डीएलडब्ल्यू कैंपस में चल रहा था निर्माण

varanasi@inext.co.in

VARANASI

पीएम के पायलट प्रोजेक्ट के तहत डीएलडब्ल्यू परिसर स्थित पेट्रोल पंप के पीछे इंडियन ऑयल द्वारा बनाये जा रहे सीएनजी गैस स्टेशन के निर्माण को बुधवार को पुलिस और आरपीएफ टीम ने ध्वस्त कर दिया. गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड की कार्यदायी संस्था द्वारा डीएलडब्ल्यू कैंपस में कर्मचारियों के घरों तक पाइप लाइन से गैस पहुंचाने की व्यवस्था करने वाली संस्था इंडियन ऑयल का सीएनजी डिपार्टमेंट गैस स्टेशन का निर्माण करा रहा है. वाराणसी में कुल सात स्थानों पर सीएनजी गैस स्टेशन बनने वाला है. इसी क्रम में प्रोजेक्ट के फ‌र्स्ट फेज में पीएम के पसंदीदा स्थान पर कंपनी ने सेलेक्शन कर निर्माण भी शुरू कर दिया. जिसे डीएलडब्ल्यू एडमिनिस्ट्रेशन ने जेसीबी से जमींदोज कर दिया. सिविल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि निर्माण करने के लिए कम्पनी ने डीएलडब्ल्यू से कोई अनुमति नहीं ली है. जबकि घरों में सप्लाई के लिए किये जा रहे पाइप लाइन के कार्यो में डीएलडब्ल्यू एडमिनिस्ट्रेशन पूरा हेल्प कर रहा है. इसके लिए डीएलडब्ल्यू ने जारी किए गए नोटिस में दो दिन का समय भी दिया.

नोटिस देने के कुछ घंटे में तोड़ा

सीएनजी कम्पनी के डिप्टी जीएम गौरीशंकर मिश्रा ने बताया कि कैंपस में निर्माण करवाने के सम्बंध में हेड क्वार्टर, नागपुर की ओर से डीरेका प्रशासन को लेटर भेजा जा चुका है. संभावना जताया जा रहा है कि अक्टूबर के अंत में पाइप लाइन द्वारा गैस सप्लाई के पायलट प्रोजेक्ट का इनॉगरेशन पीएम द्वारा किया जा सकता है. इस वजह से युद्धस्तर पर निर्माण किया जा रहा है. लेकिन डीरेका प्रशासन ने नोटिस देने के कुछ घंटों बाद ही निर्माण को ध्वस्त कर दिया गया.