- व्यापारी के सीने में गोली मारकर बदमाश हो गए फरार

- पहले दिन ही सरकार के लिए लॉ एंड आर्डर की चुनौती

आगरा. कानून व्यवस्था सुधारने की प्राथमिकता रखने वाली भाजपा सरकार को बदमाशों ने पहले दिन ही खुली चुनौती दे दी. बेखौफ बदमाशों ने बल्केश्वर घाट के पास व्यापारी को गोली मारी और फरार हो गए. घायल को जीजी हास्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस घटना के बाद व्यापारियों में जबरदस्त आक्रोश है. घटना की जानकारी मिलते ही अस्पताल फिर पोस्टमार्टम हाउस में शहरवासियों सहित नेताओं का मजमा लग गया.

गोलियों से गूंजा इलाका

जानकारी के अनुसार 42 वर्षीय रामकुमार पुत्र रामबाबू अग्रवाल सीताराम कॉलोनी बलकेश्वर का निवासी है. उसकी 'ली पायल' सर्राफा नाम से दुकान चौबे जी के फाटक पर है. वह रोजमर्रा की तरह रविवार को भी दुकान बंदकर एक्टिवा गाड़ी में घर जा रहा था. इस दौरान उसके साथ उसका कर्मी जुगल भी था. वह लगभग 8.30 बजे बल्केश्वर स्थित घाट के पास पहुंचा था. यहीं दो मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने व्यापारी के सीने में ताबड़तोड़ गोलियां दाग दी और फरार हो गए. गोलियों की आवाज सुनकर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए.

भाजपा नेता भी पहुंचे, हंगामा

पुलिस को सूचना दी गई और खून से लथपथ व्यापारी को संजय प्लेस स्थित जीजी हॉस्पिटल लेकर गए. जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. मृतक की बॉडी को पोस्टमार्टम हाउस भेजा गया, जहां परिजनों के साथ बड़ी संख्या में लोग पहुंच गए. इस घटना के विरोध में हंगामा करने लगे. पुलिस मौके की नजाकत को समझते हुए सभी को समझाने में लगी रही. भाजपा महानगर अध्यक्ष विजय शिवहरे भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने आश्वासन नहीं बल्कि बदमाशों को पकड़ने की बात कही. इस घटना के बाद लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है.

पहले भी हो चुका है हमला

सर्राफा व्यापारी रामकुमार अग्रवाल पर छह महीने पहले भी सब्बल से हमला हो चुका है. व्यापारी ने डर के कारण इसकी एफआईआर थाने में नहीं लिखाई थी. इस घटना के खुलासे के बाद अब रंजिश से मामले को जोड़कर देखा जा रहा है. पुलिस अधिकारी कर्मी जुगल से पूछताछ करके बदमाशों की पहचान में जुटे हुए हैं. वहीं व्यापारियों में घटना को लेकर जबरदस्त आक्रोश है. वे रात में भी बड़ी संख्या में पोस्टमार्टम हाउस में मौजूद हैं.