-मिर्च के पैकेट पर लिखे मार्का से दुकानदार तक पहुंची पुलिस

-दुकानदार वृद्ध होने के कारण मिर्च खरीदने वाले बदमाश का चेहरा साफ नहीं देख सका

बरेली:

इज्जतनगर के शांतिपुरम कॉलोनी में सर्राफ से चार लाख के जेवरात लूटने के लिए बदमाशों ने सर्राफ की दुकान के पड़ोस से ही मिर्च का पैकेट खरीदा था. मिर्च के पैकेट पर लगे मार्का के आधार पर पुलिस दुकानदार तक सैटरडे पहुंच गई और पूछताछ की. हालांकि दुकानदार ने पैकेट खरीदने वाले बदमाश का चेहरा ठीक से नहंीं देख पाने की बात पुलिस से कही. पुलिस अब संदिग्ध बदमाशों की फोटो वृद्ध दुकानदार को दिखाकर बदमाशों की पहचान कराने की कोशिश करेगी. वहीं, पुलिस कई संदिग्धों से अभी भी पूछताछ करते हुए लाल बाइक समेत बदमाशों की तलाश में जुटी हुई है.

वेडनसडे को हुई थी लूट

बता दें कि इज्जतनगर के शंातिपुरम कॉलोनी निवासी राकेश रस्तोगी की संजयनगर आम के पेड़ के पास कीर्ति ज्वैलर्स के नाम से दुकान है. वेडनसडे शाम सवा छह बजे वह दुकान बंदकर सोने-चांदी से भरा बैग लेकर निकले. वह घर के पास पहुंचे, उसी दौरान लाल बाइक सवार दो बदमाशों ने चलती बाइक पर उनकी आंख में मिर्च डालकर बैग लूट लिया. उन्होंने संघर्ष किया लेकिन बैग का हैंडिल टूट जाने से बदमाश बैग लेकर भागने में कामयाब हो गए थे.

शाम चार बजे पहुंचे थे बदमाश

पुलिस ने मिर्च बेचने वाले दुकानदार से बात की तो उसने उम्र का हवाला दिया और कहा कि उसकी दुकान पर बहुत खरीदार आते है. उसे उनका चेहरा ठीक से याद नहीं है. लाल बाइक से दो युवक जरूर आए थे. उन्होंने दस रुपए वाला मिर्च का पैकेट खरीदा था. जिसके बाद पुलिस उसके पड़ोस में स्थित दुकानदारों से पूछताछ की तो एक मोबाइल शॉप चलाने वाले युवक ने बताया कि उसने उन बदमाशों को दूर से देखा था. करीब चार बजे लाल बाइक सवार आए थे. उसमें से एक बदमाश बाइक पर बैठा था. जबकि दूसरे ने मिर्च का पैकेट खरीदा. पुलिस अब जेल में बंद व एक महीने के अंदर जमानत पर छूटे बदमाशों की कुंडली तैयार कर रही है.

फोटो दिखाकर कराएंगे पहचान

पुलिस मिर्च बेचने वाले दुकानदार और उसके पड़ोसी दुकानदारों को संदिग्ध बदमाशों के फोटो दिखाकर पहचान कराने की कोशिश करेगी. इसी के साथ उन्हें सीसीटीवी कैमरे में कैद बदमाशों की भी फोटो दिखाई जाएगी. वहीं मामले की जांच में क्राइम ब्रांच भी जुटी है. सूत्रों की माने तो क्राइम ब्रांच को पता चला है कि संजयनगर के एक बदमाश के पास लाल रंग की सुजकी बाइक है. लूट के लिए भी लाल रंग की सूजकी बाइक का ही इस्तेमाल हुआ है. पुलिस उस संदिग्ध बदमाश की तलाश कर रही लेकिन वह अभी हाथ नहीं लगा है.