'उन' के रडार पर पूरा अमेरिका

By: Shweta Mishra | Publish Date: Sun 30-Jul-2017 12:36:03
A- A+
 'उन' के रडार पर पूरा अमेरिका
नॉर्थ कोरिया ने शुक्रवार को फिर से इंटर कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का टेस्ट किया। इस टेस्ट के सफल होने के बाद नॉर्थ कोरियन सुप्रीम लीडर किम जोंग उन ने दावा है कि यह परीक्षण भी सफल रहा और यह अमेरिका के लॉस एंजिलिस समेत ज्यादातर अंदरूनी शहरों पर हमला करने में सक्षम है। परमाणु हथियार संपन्न नॉर्थ कोरिया अमेरिका, साउथ कोरिया और जापान के लिए लगातार खतरा बना हुआ है। नॉर्थ कोरिया के प्रमुख सहयोगी चीन ने भी इस परीक्षण की निंदा की है।

पूरा अमेरिका जद में
नॉर्थ कोरिया ने अपनी सरकारी न्यूज एजेंसी केसीएनए में इस परीक्षण की शनिवार को पुष्टि की। कहा, यह अमेरिका के लिए गंभीर चेतावनी है कि वह कोरिया प्रायद्वीप में अपनी हरकतों से बाज आए। किम जोंग उन के हवाले से कहा गया है कि अब पूरा अमेरिका हमारी मिसाइलों की जद में है लेकिन अमेरिकी अधिकारियों ने इस दावे को फिजूल बताया है।

ट्रंप ने बताया हरकत को बचकाना
वहीं, अमेरिका के प्रेसीडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने इस मिसाइल टेस्ट को एक बचकाना हरकत करार देते हुए कहा है कि यह गंभीर परीणामों को उत्पन्न करने वाला है। उन्होंने कोरिया को शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया है। कहा कि इस परीक्षण से नॉर्थ कोरिया के लोगों की समस्याएं और बढ़ेंगी। ट्रंप ने स्पष्ट किया है कि अमेरिकी लोगों और मित्र देशों की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे।

Kim Jong Un, Kim Jong Un ICBM, North Korean missile, North Korean missile test, Kim Jong un and America,

निंदा और बैठकों का दौर शुरू
साउथ कोरिया के रक्षा मंत्री सोंग यंग मू ने कहा है कि उनका देश अपनी रक्षा के लिए अलग से भी इंतजाम करेगा। उन्होंने कहा, नॉर्थ कोरिया का ताजा परीक्षण यूएन सिक्योरिटी काउंसिल के निर्देशों का खुला उल्लंघन है। इससे कोरिया प्रायद्वीप समेत पूरी दुनिया की शांति को खतरा पैदा हो गया है। रक्षा मंत्री ने कहा, दक्षिण कोरिया में अमेरिकी मिसाइल सिस्टम थाड की तैनाती की प्रक्रिया अब और तेज की जाएगी। नॉर्थ कोरिया के ताजा परीक्षण के बाद अमेरिकी सेना के उच्चाधिकारियों ने मित्र राष्ट्रों से सैन्य प्रमुखों से बात की है। ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि खतरे से निपटने के सभी विकल्प खुले हुए हैं। इनमें सैन्य कार्रवाई का विकल्प भी शामिल है। इसके अलावा जापान द्वारा भी टेस्ट की निंदा की गई और सुरक्षा के लिहाज से वे भी अपने स्तर पर आंकलन कर रहे हैं।

3,700 किमी दूर गई मिसाइल
साउथ कोरिया की सेना ने बयान जारी कर कहा है कि नॉर्थ कोरिया की मिसाइल आईसीबीएम ही थी। यह आकाश में एक हजार किलोमीटर की ऊंचाई तक गई और उसके बाद उसने 3,700 किलोमीटर की दूरी तय की। अमेरिका टेस्ट की गई मिसाइल की ताकत का आकलन कर रहा है। हालांकि, उसने उन के उस दावे को नकार दिया है जिसमें कहा गया है कि अब पूरा अमेरिका और सभी महत्वपूर्ण अमेरिकी शहर आईसीबीएम की जद में है।

प्रेसीडेंट ट्रंप का मुखौटा लगाकर लुटेरों ने लूट लिए दर्जनों एटीएम

International News inextlive from World News Desk