गरीबी बेहद करीब से देखी
6 जनवरी 1965 को मंडी जिले के टांडी में एक कृषि परिवार में जयराम ठाकुर का जन्‍म हुआ था। इन्‍होंने गरीबी बेहद करीब से देखी है। जयराम ठाकुर ने अपने पर‍िवार को काफी संघर्ष के बल पर आगे बढ़ते देखा है।

पढने के ल‍िए प्रोत्‍सा‍ह‍ित क‍िया
जयराम बचपन से ही पढ़ने में काफी तेज रहे हैं। ऐसे में कभी इनके पि‍ता जेठूराम और बिक्रमू देवी ने इन्‍हें पढाई छोड़ने के ल‍िए नहीं कहा। इनके माता प‍िता ने हमेशा इन्‍हें पढ़ने और आगे बढ़ने के ल‍िए प्रोत्‍सा‍ह‍ित क‍िया।

मां बेटी और पत्‍नी से ऐसे बात करते हैं जयराम,इन 7 बातों से जानें हिमाचल के नए cm को

छात्र जीवन में एबीवीपी से जुड़े
स्‍नातक में पढ़ते समय ही एबीवीपी से जुड़ गए थे। जयराम अपने शौक के चलते कॉलेज टाइम में वह एक युवा नेता के रूप में तेजी से उभर रहे थे। जयराम ठाकुर ने चंडीगढ़ में पंजाब विश्वविद्यालय से एमए की पढाई पूरी की है।  

ईमानदार व गैर विवादित छवि के

जयराम ईमानदार और गैर विवादित छवि के नेता माने जाते हैं। 1998 में पहली बार और अब तक मंडी से 5 बार विधायक चुने गए है। इसके अलावा 2009-2013 तक हिमाचल बीजेपी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।
मां बेटी और पत्‍नी से ऐसे बात करते हैं जयराम,इन 7 बातों से जानें हिमाचल के नए cm को

14वें मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए
इतना ही नहीं जयराम मंडी संसदीय सीट से लोकसभा उपचुनाव लड़ने के साथ ही ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग का कार्यभार भी संभाल चुके हैं। अब वह ह‍िमाचल प्रदेश के 14वें मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए हैं।

प‍िता के रूप में बेहद सरल स्‍वभाव
जयराम ठाकुर की पत्नी साधना पूर्व एबीवीपी सदस्य होने के साथ ही एक डॉक्टर हैं। इनकी दो बेट‍ियां भी हैं। जयराम ठाकुर अपनी पत्‍नी और बेटि‍यों के साथ दोस्‍ताना व्‍यवहार करते हैं। प‍िता के रूप में यह बेहद सरल हैं।

मां को बहुत प्‍यार करते हैं जयराम
जयराम के पि‍ता अब इस दुन‍िया में नही हैं। जयराम अपनी मां को बहुत प्‍यार करते हैं। वहीं उनकी मां कहती हैं क‍ि जयराम स‍िर्फ अपनों के साथ ही नहीं बल्‍क‍ि हर क‍िसी के साथ अच्‍छा व्‍यवहार करने की कोश‍िश करते हैं।

ऐसे हुआ था CM जयराम ठाकुर का साधना से गठबंधन, यहां पढ़ें उनका कर्नाटक और राजस्‍थान कनेक्‍शन

National News inextlive from India News Desk