मानव बम बनकर हमले कर सकती थीं
मुंबई (प्रेट्र)। हाल ही में जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की मासूम के साथ गैंगरेप और हत्‍या के मामले में विष्णु नंदुकुमार नाम के एक व्‍यक्‍त‍ि ने व‍िवाद‍ित कमेंट क‍िया था। विष्णु नंदुकुमार कोच्‍च‍ि में कोटक महिंद्रा बैंक में नौकरी करते थे। वह यहां पर एक शाखा में सहायक प्रबंधक के रूप काम कर रहे थे। इस पूरे मामले को लेकर कोटक महिंद्रा बैंक के प्रवक्‍ता रोह‍ित राव का कहना है क‍ि कर्मचारी विष्णु नंदुकुमार ने गैंगरेप की श‍िकार हुई मासूम को लेकर कमेंट क‍िया था क‍ि "अच्छा हुआ वह उसकी इस उम्र में ही हत्या कर दी गई। वरना जब यह वह लड़की बड़ी होती तो भारत पर मानव बम बनकर हमले कर सकती थी।"

बर्खास्‍त करने की मांग होने लगी थी

नंदुकुमार ने कथ‍ित तौर पर यह पोस्‍ट मलयालम में ल‍िखा था। इसके बाद उसे लागतार ट्रोल क‍िया जाने लगा तो उसने यह पोस्‍ट ड‍िलीट कर द‍िया था। ऐसे में उसके इस पोस्‍ट के बाद सोशल मीड‍िया पर उसको बर्खास्‍त करने की मांग होने लगी। मामले को संज्ञान में लेते हुए और बैंक ने उसकी पुअर परफॉरमेंस को देखते हुए 11 अप्रैल को ही उसे बर्खास्त कर दिया। प्रवक्‍ता रोह‍ित राव का कहना है क‍ि हम सब उस पूर्व कर्मचारी के कथन की निंदा करते हैं। यह बेहद खराब पोस्‍ट था। बतादें क‍ि देश में हर तरफ इस मासूम के ल‍िए न्‍याय की मांग उठ रही है। खुद पीएम ने भी कहा है क‍ि दोष‍ियों को किसी भी सूरत में बख्‍शा नहीं जाएगा

उन्‍नाव कांड: बढ़ती जा रही हैं बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मुश्‍क‍िलें, पूछताछ के बाद CBI ने क‍िया गिरफ्तार

अम्बेडकर जयंती और वैसाखी पर PM ने दी बधाई, इन 5 राज्‍यों के ल‍िए क‍िए स्‍पेशल ट्वीट

National News inextlive from India News Desk