JAMSHEDPUR: करीम सिटी कॉलेज (केसीसी) में आयोजित केयू यूथ फेस्टिवल के दौरान स्टूडेंट लीडर्स ने जमकर हंगामा किया. गर्वनर के जाने के बाद विभिन्न स्टूडेंट लीडर्स कॉलेज के मेन गेट से अंदर घुसे और इन्विटेशन नहीं दिए जाने के विरोध में जमकर बवाल काटा. इस वजह से तीन बार तीन बार यूथ फेस्टिवल का प्रोग्राम रोकना पड़ा. इस दौरान स्टूडेंट लीडर्स की वीसी के साथ भी जमकर बकझक हुई. स्टूडेंट लीडर्स ने वीसी को दूसरे कॉलेज में आने पर देख लेने की धमकी तक दे डाली. हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने स्टूडेंट लीडर्स पर बल प्रयोग किया और लाठीचार्ज भी किया. केयू स्टूडेंट यूनियन के प्रसिडेंट नीतीश, वर्कर्स कॉलेज स्टूडेंट यूनियन के यूनिर्वसिटी रिप्रेंजेंटेटीव सागर राय को पुलिस ने जमकर पीटा, साथ ही हंगामा कर रहे अन्य स्टूडेंट्स को पकड़कर जबरन बाहर का रास्ता दिखाया गया.

करने लगे नारेबाजी

इसके बाद नारेबाजी करते हुए स्टूडेंट लीडर्स करीम सिटी कॉलेज के मेन गेट के समक्ष धरना देने लगे. करीब दो घंटे तक स्टूडेंट लीडर्स ने हंगामा मचाया. इस दौरान सिटी डीएसपी अनिमेष नथानी ने बाद में मामला सुलझाने के लिए स्टूडेंट लीडर्स की वीसी से बात कराई. मामले को लेकर स्टूडेंट लीडर्स ने कहा कि यूथ फेस्टिवल में उनकी भागीदारी नहीं है और यह उनकी अनदेखी के साथ कॉलेज यूनिवर्सिटी के तानाशाही रवैया को दर्शाता है. प्रिंसिपल डॉ. मोहम्मद जकरिया के मान-मनौव्वल पर स्टूडेंट लीडर्स माने. इसके बाद प्रिंसिपल ने स्टूडेंट लीडर्स को फेस्टीवल में मदद करने तथा भागीदारी करने को कहा. उन्होंने कहा कि अगर इन्विटेशन देने में कोई भूल हुई है तो वे क्षमाप्रार्थी हैं. इस दौरान हंगामा करने वालों में एबीवीपी, जेसीएम, एनएसयूआई के स्टूडेंट लीडर्स शामिल थे.

कल कॉलेज बंद का आहवान

कोल्हान यूनिर्वसिटी मैनेजमेंट द्वारा लगातार कॉलेज और यूनिर्वसिटी स्टूडेंट यूनियन की अनदेखी के विरोध में स्टूडेंट लीडर्स ने सोमवार को कोल्हान यूनिर्वसिटी केसभी कॉलेजों को बंद करने का आहवान किया है. केयू के प्रसिडेंट नीतीश कुमार ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि सभी कॉलेज बंद रहेंगे. स्टूडेंट लीडर्स की लगातार अनदेखी के विरोध में इस तरह का कदम उठाया गया है. इसमें सभी स्टूडेंट ऑर्गनाईजेशन बढ़-चढ़कर भाग लें और बंद को सफल बनाएं.

यूथ फेस्टिवल में स्टूडेंट लीडर्स की अनदेखी की बात गलत है. कोल्हान यूनिर्वसिटी के साथ ही कॉलेज स्टूडेंट यूनियन को केसीसी द्वारा इन्विटेशन दिया गया था. यह अमर्यादित आचरण हैं. जहां तक कॉलेज स्टूडेंट यूनियन के पदाधिकारियों के इनविटेशन की बात है तो उनका इनविटेशन लेटर कॉलेज के प्रिंसिपल को उपलब्ध करा दिया गया था.

-डॉ आरपीपी सिंह, वीसी, केयू

फेस्टिवल का इन्विटेशन नहीं मिलने को लेकर स्टूडेंट यूनियन के लीडर्स ने हंगामा किया. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए हंगामा कर रहे स्टूडेंट्स को बाहर खदेड़ दिया. लाठीचार्ज की जानकारी मुझे नहीं है.

-अनिमेष नैथानी, सिटी डीएसपी, जमशेदपुर