-विद्यापीठ में विभिन्न कोर्सेस में ऑनलाइन काउंसिलिंग आज से -एडमिशन प्रॉसेस पांच दिनों में पूरा करने का टारगेट

-निर्धारित सीट के सापेक्ष चार गुना अधिक बुलाए गए कैंडीडेट्स

varanasi@inext.co.in

VARANASI

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के यूजी, पीजी सहित विभिन्न कोर्सेस में एडमिशन की काउंसलिंग को लेकर ऊहापोह खत्म हो गया. यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने चार कोर्सेस को छोड़कर अन्य में एडमिशन के लिए काउंसलिंग का शेड्यूल सोमवार को डिक्लेयर कर दिया है. ऑनलाइन काउंसलिंग क्8 से ख्ख् जुलाई तक होगी. महज पांच दिनों में एडमिशन प्रॉसेस पूरा कर लिया जाएगा.

एसएमएस से दिया इंफार्मेशन

असिस्टेंट रजिस्ट्रार डॉ. सुरेंद्र नाथ सिंह के मुताबिक चयनित अभ्यर्थियों को काल लेटर के स्थान पर एसएमएस भेजे गए हैं. इसके अलावा यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर भी सूचना अपलोड कर दी गई है. काउंसलिंग के संयोजक प्रो. चतुर्भुज नाथ तिवारी के मुताबिक काउंसलिंग में निर्धारित सीट के सापेक्ष चार गुना अधिक कैंडीडेट्स बुलाए गए हैं.

पहले टोकन, फिर वेरीफिकेशन

काउंसलिंग कराने पहुंचे कैंडीडेट्स को यूनिवर्सिटी की वेबसाइट से सर्टिफिकेट वेरीफिकेशन फॉर्म निकाल कर उस पर अंकित डेट, टाइम व प्लेस के अनुसार उपस्थित होना है. सर्टिफिकेट के वेरीफिकेशन के लिए कैंडीडेट्स को काउंसलिंग सेंटर से टोकन प्राप्त करना होगा. टोकन के क्रम में ही कैंडीडेट्स के सर्टिफिकेट का वेरीफिकेशन किया जाएगा. सत्यापन कराने वाले कैंडीडेट्स को दूसरे दिन रिक्त सीटों के सापेक्ष मेरिट के आधार पर अस्थायी तौर पर सीट एलॉट किया जाएगा.

तीन दिनों में जमा करना होगा फीस

सीट एलॉट किए गए कैंडीडेट्स की लिस्ट के साथ फीस जमा करने के लिए अभ्यर्थियों का चालान वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा. चालान व गेटवे के माध्यम से कैंडीडेट्स को फीस जमा करने के लिए तीन दिनों का मौका दिया जाएगा. तीन दिनों के अंदर फीस न जमा करने पर संबंधित अभ्यर्थी का एडमिशन निरस्त माना जाएगा. इसके स्थान पर मेरिट के क्रम में दूसरे कैंडीडेट्स को फीस जमा करने का मौका दे दिया जाएगा.

एंटी रैगिंग का देना होगा सर्टिफिकेट

फीस जमा करने वाले कैंडीडेट्स को प्रवेश अनुमति पत्र, चीफ प्रॉक्टर प्रोफार्मा, एंटी रैगिंग अंडर टेकिंग फार्म जारी किया जाएगा. कैंडीडेट्स को इसे भरकर संबंधित विभागों में जमा करना होगा.

चार कोर्सेस में फंसा एडमिशन

इससे पहले क्क् जुलाई से काउंसलिंग की डेट घोषित की गई थी. छात्रों के विरोध के चलते अगले आदेश तक के लिए काउंसलिंग स्थगित कर दी गयी. छात्रों का आरोप है कि एलएलबी, एमएड, एमए मासकॉम व एक वर्षीय पीजी डिप्लोमा इन नेचुरोपैथी एंड योगा में धांधली हुई. इसकी जांच के लिए यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने चार सदस्यीय समिति गठित कर दी है. ऐसे में इन चार कोर्सेस में एडमिशन फंस गया है. जांच रिपोर्ट के अनुसार ही कोई डिसीजन लिया जाएगा.

सात सेंटर पर होगी काउंसलिंग

यूनिवर्सिटी कैंपस में काउंसलिंग के लिए सात सेंटर बनाए गए हैं. इसमें तीन सेंटर सिर्फ महिलाओं के लिए आरक्षित है.

आज इन की होगी काउंसलिंग

-ब्वॉयज के लिए

मानविकी संकाय : एमए हिंदी, एमलिब,

शिक्षा संकाय : एमए अंग्रेजी, पीजीडीसीए, एमम्यूज, एमपीएड

वाणिज्य व प्रबंधशास्त्र: एमकॉम

लॉ डिपार्टमेंट :एमए इतिहास

-ग‌र्ल्स के लिए

समाज विज्ञान संकाय : एमए अंग्रेजी, इतिहास

विज्ञान व प्रौद्योगिकी संकाय : एमए (हिंदी), पीजीडीसीए, एमएड, एमलिब

समाज कार्य : एमकॉम, एमम्यूज