-काशी विद्यापीठ के विभिन्न कोर्सेज में एडमिशन को 25675 ने किया आवेदन

-सीट के सापेक्ष दोगुने से कम फॉर्म वाले कोर्सेज में सीधा होगा एडमिशन

varanasi@inext.co.in

VARANASI

महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के यूजी, पीजी, प्रोफेशनल, डिप्लोमा, एमफिल के ख्भ् सब्जेक्ट्स में एडमिशन के लिए कम फॉर्म आए हैं. ऐसे में इन सब्जेक्ट्स में एंट्रेंस एग्जाम नहीं होगा. वहीं यूनिवर्सिटी में टोटल ख्भ्म्7भ् कैंडीडेट्स ने एडमिशन के लिए आवेदन किया है. इस क्रम में दोपहर तक करीब ख्फ्0क्8 कैंडीडेट्स एंट्रेंस एग्जाम फीस जमा कर चुके थे. गेटवे के माध्यम से कैंडीडेट्स गुरुवार की रात क्ख् बजे तक ऑनलाइन फीस जमा कर सकते हैं.

दोगुने से कम आए फॉर्म

काशी विद्यापीठ के ख्भ् कोर्सेज में सीट के सापेक्ष दोगुने से कम आवेदन आए हैं. हालांकि इनकी संख्या घट-बढ़ सकती है. बहरहाल यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने दोगुने से कम आवेदन आने वाले कोर्सेज में सीधे एडमिशन करने का डिसीजन लिया है. इन कोर्सेस में एंट्रेंस एग्जाम नहीं होगा. अब तक एमए उर्दू, दर्शन, गांधी अध्ययन, आईआरपीएम, संख्यिकी, एमटीटीएम, संस्कृत सहित करीब ख्भ् कोर्सेज में सीट के सापेक्ष दोगुने से कम फॉर्म प्राप्त हुए हैं.

कई में होगी मारामारी

यूनिवर्सिटी के बीए, बीएम, एमकॉम, बीएससी (मैथ गु्रप), एमएसडब्ल्यू में सर्वाधिक फॉर्म आए हैं. बीए व बीकॉम में करीब भ्000, बीएससी मे फ्800, एमएसडब्ल्यू 800, एमकॉम में ख्000 कैंडीडेट्स ने ऑनलाइन आवेदन किया है. ऐसे में इन कोर्सेज में एडमिशन के लिए मारामारी होना तय है. हालांकि कैंडीडेट्स का यह प्रारंभिक डाटा बताया जा रहा है. कैंडीडेट्स के लिए रात क्ख् बजे तक का मौका है. ऐसे में सटीक डाटा दो दिनों के बाद ही प्राप्त होगा.

गेटवे ने आसान कर दी मुश्किल

यूनिवर्सिटी के एडमिशन प्रॉसेस में इस साल गेटवे के माध्यम से फीस जमा करने वाले कैंडीडेट्स की संख्या करीब 90 परसेंट है. ऐसे में ई-चालान के प्रति कैंडीडेट्स का मोह भंग हुआ है. वहीं गेटवे के प्रति इंटरेस्ट बढ़ा है.