- एक अप्रैल से शुरू हो चुका है परिषदीय विद्यालयों में नया सेशन

- लेकिन अभी तक न तो डेस्क-बेंच का पता और न ही आईं किताब-कॉपी

GORAKHPUR: नया सेशन तो शुरू हो गया लेकिन बेसिक स्कूलों में बच्चों के बैठने के लिए अब तक न तो डेस्क-बेंच की कोई व्यवस्था की गई और न ही किताब-कॉपी से ही वे रूबरू हो सके हैं. जबकि शिक्षा विभाग का दावा था कि सेशन शुरू होने के बाद बच्चे जमीन नहीं बल्कि बेंच पर बैठकर पढ़ाई करेंगे. हालांकि स्कूलों में डेस्क-बेंच लगाए जाने की विस्तृत रिपोर्ट बनाने का कार्य शिक्षा विभाग की ओर से शुरू कर दिया गया है.

अब बनाने बैठे रिपोर्ट

बता दें, परिषदीय विद्यालयों की बदहाली दुरुस्त करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा किए गए दावे के मुताबिक, जमीन पर बैठकर पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स के लिए न सिर्फ किताब, कॉपी, ड्रेस व जूता-मोजा की व्यवस्था की जानी थी. बल्कि डेस्क व बेंच की भी व्यवस्था की जानी थी. इसी आदेश के क्रम में यहां भी शिक्षा विभाग को स्कूलों में डेस्क-बेंच की कमी को देखते हुए विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश जारी किया गया था. लकिन रिपोर्ट तैयार किए जाने की कवायद शिक्षा विभाग अब जाकर शुरू कर सका है. जबकि सेशन शुरू होने से पहले ही सारी व्यवस्था हो जानी थी.

खर्च का भी देना होगा ब्यौरा

शासन के आदेश के मुताबिक, बेसिक शिक्षा विभाग को जहां डेस्क-बेंच की पूरी विस्तृत रिपोर्ट तैयार करनी थी. वहीं, इस पर होने वाले खर्च का भी पूरा ब्यौरा बनाना था. हालांकि लेखा विभाग की तरफ से कार्य शुरू नहीं किया जा सका. इधर नया सेशन शुरू होने पर भी स्टूडेंट्स इंतजार में ही हैं कि कब डेस्क-बेंच लगाए जाने का काम शुरू हो जाता तो उन्हें जमीन पर दरी बिछाकर पढ़ाई करने में मुक्ति मिल जाती.

वर्जन

डेस्क व बेंच की व्यवस्था कराई जाएगी. इसके लिए जैसा निर्देश उच्च अधिकारियों से प्राप्त होगा वैसा किया जाएगा. रहा सवाल किताब व कॉपी तो उसके लिए प्रयास जारी है.

- रामसागर पति त्रिपाठी, बीएसए