यूपी निकाय चुनाव में कहीं खटिया, लड़की-लड़का तो कहीं कुंडी पर मांग रहे वोट

By: Inextlive | Publish Date: Mon 13-Nov-2017 04:09:50   |  Modified Date: Mon 13-Nov-2017 04:12:29
A- A+
यूपी निकाय चुनाव में कहीं खटिया, लड़की-लड़का तो कहीं कुंडी पर मांग रहे वोट
- निर्दल प्रत्याशियों को निकाय चुनाव में अजब-गजब सिंबल किया गया है एलॉट -अनोखे, चटखारे वाले स्लोगन से गूंजायमान हो रहे वार्ड

varanasi@inext.co.in

VARANASI

निकाय चुनाव में निर्दल प्रत्याशियों को एलॉट अजब-गजब चुनाव चिन्ह काफी चर्चा बटोर रहा. चुनावी मैदान में बतौर प्रत्याशी उतरे भइया-भाभी के वोट मांगने की स्टाइल वोटर्स के दिल में हलचल मचान में कामयाब हो रही है. कोई खटिया (चारपाई) पर वोट मांग रहा तो कोई लड़का-लड़की पर बटन दबाकर विजयी बनाने की हाथजोड़ अपील कर रहा. जाते-जाते कुंडी पर मुहर लगाना ना भूले का नारा भी वार्डवार गूंज रहा है. माहौल थोड़ा शांत होने की मुद्रा में हो रहा तभी 'सुन लो भइया-सुन लो बहना आ गया है चौका-बेलना' जैसे स्लोगन चुनावी फिजा में शोर मचा रहे हें. कुछ एलॉटेट सिंबल भी ऐसा कि कैंडीडेट्स उसे साथ लेकर भी घूम रहे. कटारी, सरोता, चौका-बेलना, जंजीर, चिमटी, हेडफोन, हॉकी, लंच बॉक्स, हेलमेट, प्रेस जैसे आदि चुनाव चिन्ह साथ लेकर प्रत्याशियों को वार्ड में प्रचार करते देखा जा सकता है.

 

 

टॉप फाइव में चल रहे ये सिंबल

राजनीतिक, मान्यता प्राप्त दलों के अलावा राजपत्रित पार्टियों के जो सिंबल हैं उस पर उन पार्टियों के तो कैंडीडेट्स लड़ ही रहे. मगर, निर्दल प्रत्याशियों को एलॉट चुनाव चिन्ह भी सब पर हावी दिख रहा. टॉप फाइव में चलने वाले चुनाव चिन्ह में लड़का-लड़की, कप-प्लेट, टॉर्च, प्रेस, हवाई जहाज भी खूब धूम मचा रहा है. अपने-अपने स्टाइल में कैंडीडेट्स वोटर्स के मन में सिंबल का छाप उतारने के लिए तरह-तरह के हथकंडे भी अपना रहे हैं. एक वार्ड में लड़ रहे प्रत्याशी ने तो अपने चुनावी कार्यालय पर साइकिल ही टांग दी है.

 

एक नजर

 

म्08

कैंडीडेट्स लड़ रहे नगर निगम के 90 वार्डो में पार्षद पद पर

0म्

मेयर कैडीडेट्स मैदान में

फ्ब्

कैंडीडेट्स लड़े रहे गंगापुर नगर पंचायत में पार्षद पद पर

0ब्

नगर पंचायत अध्यक्ष पद पर मैदान में

क्ब्8

कैंडीडेट्स लड़ रहे नगर पालिका परिषद रामनगर में पार्षद पद पर

क्क्

कैंडीडेट्स नगर पालिका परिषद अध्यक्ष पद पर मैदान में

क्म्ब्

प्रकार के एलॉट है सिंबल

ख्म्

नवंबर को है बनारस में वोटिंग

0क्

दिसंबर को होगी काउंटिंग

 

 

हर वार्डो में अलग-अलग चुनाव चिन्ह प्रत्याशियों को एलॉट है. मान्यता प्राप्त दलों का चुनाव चिन्ह और निर्दल प्रत्याशियों का सिंबल सब अलग-अलग है. एक ही वार्ड में एक ही सिंबल पर दो कैंडीडेट्स मैदान में नहीं है.

आरआर वर्मा, सहायक निर्वाचन अधिकारी