delete
You are here : Local

फ्रीजिंग प्वाइंट पर लखनऊ

By: Inextlive | Publish Date: Sat 14-Jan-2017 07:41:21
- +
फ्रीजिंग प्वाइंट पर लखनऊ

सामान्य से 7 डिग्री नीचे लुढ़क 0.1 डिग्री पहुंचा पारा

LUCKNOW: पहाड़ों पर हो रही जबरदस्त बर्फबारी से पूरा प्रदेश कंपकपा रहा है। लखनऊ में तो तापमान फ्रीजिंग प्वाइंट के करीब (0.1 डिग्री) जा पहुंचा है। मौसम विभाग के अनुसार, एक- दो दिन बाद हालात में कुछ सुधार की संभावना है। एक्सप‌र्ट्स बताते हैं कि न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री और अधिकतम में भी तीन से चार डिग्री की बढ़ोत्तरी हो सकती है। शुक्रवार सुबह से ही काफी गलन महसूस की गई। सुबह 9 बजे के आसपास धूप निकली लेकिन ठिठुरन से निजात नहीं मिली। ठंडी हवा और गलन के कारण ज्यादातर लोग घरों में ही दुबके रहे। शुक्रवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री कम 18.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया वहीं न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 0.1 डिग्री सेल्सियस रहा.

इस कारण बढ़ रही ठंड

मौसम विभाग के अनुसार पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी और बारिश हो रही है। पाकिस्तान से एक और पश्चिमी विक्षोभ भी सक्रिय हो गया है। इस कारण शीतलहर चल रही है। शनिवार को न्यूनतम तापमान 3 से 4 डिग्री और अधिकतम तापमान 20 डिग्री के आस पास रहने के आसार हैं।

बच्चों को ठंड से बचाएं

ठंड के साथ बच्चों का खास ख्याल रखें। पूरे शरीर के साथ सिर और कान को भी ढक कर रखें। कानों में ब्लड सप्लाई ज्यादा होती है इसलिए ठंड भी अधिक लगती है। इस समय हवा बहुत ड्राई है। जो बच्चों में सांस की तकलीफ बढ़ा सकती है। इसलिए जिन बच्चों को सांस की दिक्कत है उन्हें घर में ही रखें। ब्लोअर का इस्तेमाल न करें। कमरे में कोई अंगीठी या कोयला न जलाएं। क्योंकि इससे कार्बन मोनोऑक्साइड निकलती है जो बहुत खतरनाक है.

- डॉ। प्रदीप शुक्ला, बाल रोग विशेषज्ञ

हार्ट और सांस रोगी रहें सावधान

ठंड के साथ ही सांस और हार्ट की तकलीफ बढ़ जाती है। सीनियर सिटीजन सुबह और शाम को वाक करने से बचें। धूप निकलने पर ही वाक के लिए जाएं। ठंड के कारण खून की नलियां सिकुड़ती है जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है। कोई दिक्कत होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डायबिटीज के मरीज ठंडा पानी के इस्तेमाल से बचें। ठंडे पानी से धुलने पर उंगलियों में सूजन आ सकती है। ऐसे लोग पानी गुनगुना कर यूज करें। गठिया के भी मरीजों में दिक्कत बढ़ती है। सभी महिलाएं और पुरुष दस्ताने और मोजे पहन कर ही रहें.

- डॉ। डी हिमांशु, केजीएमयू

पिछले कुछ वर्षो में मिनिमम पारा

2016- 2.1

2015- 3.4

2014- 3.0

2013- - 0.7 (माइनस)

2012- 4.6

2011- .8

2010- 3.2

2009- 4.4

2008- 3.8

2007- 4.0

inextlive from Lucknow News Desk

Webtitle : Lucknow Freezing Point