16 घंटे से अचेत हाल पड़ा था अज्ञात व्यक्ति

नशेड़ी समझकर हर कोई बढ़ जा रहा था आगे

GORAKHPUR: रेलवे बस स्टेशन के पास पुलिस पिकेट से महज 50 कदम की दूरी पर युवक ने तड़प कर दम तोड़ दिया. शनिवार दोपहर दो बजे से अचेत हाल पड़े व्यक्ति को हर कोई शराबी बताकर चला जा रहा था. राहगीरों की शिकायत पर पिकेट के सिपाही पहुंचे, लेकिन एंबुलेंस बुलाने की बात कहकर लौट गए. रविवार सुबह उसकी मौत होने पर पंचनामा भरने के लिए दरोगा सिपाही पहुंचे. जेब में मिली डायरी पर लिखे नंबर से मृत व्यक्ति की पहचान आजमगढ़ जिले के मेहनगर निवासी हरीचंद के रूप में हुई. पुलिस ने दावा किया वह शराब के नशे का आदी था. अधिक शराब पीने से उसकी जान चली गई.

50 कदम पर रहती है पुलिस

रेलवे बस स्टेशन के पास हीरापुरी कॉलोनी गेट है. शनिवार दोपहर करीब दो बजे के बाद एक अधेड़ गेट के पास पहुंचा. अचेत होकर सड़क पर गिर गया. उधर से गुजरने वाले राहगीरों को लगा कि नशेड़ी व्यक्ति है. इसलिए किसी ने उसकी ओर ध्यान नहीं दिया. काफी देर तक उसके बदन में हलचल न होने पर कुछ लोगों ने पिकेट पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों को जानकारी दी. पुलिस वाले पहुंचे तो अज्ञात व्यक्ति की सांसे चल रही थी. सरकारी एंबुलेंस बुलाने के लिए किसी से मोबाइल पर बात किया. इसके बाद वह लोग भी चले गए. रात में वह सड़क किनारे पड़ा रहा. सुबह उसके बदन पर मक्खियां भिनभिनाते देखकर मौत होने का अनुमान लगाया.

सुबह डेड बॉडी उठाने गए दरोगा

चौराहे पर दुकान लगाने वालों सहित कई लोगों ने पुलिस को जानकारी दी. करीब 10 बजे एक दरोगा सिपाहियों संग पहुंचे. अज्ञात व्यक्ति की तलाशी लेने पर उसकी जेब से एक डायरी मिली. उस पर कई बकाएदारों का नाम और रकम लिखी हुई थी. डायरी में एक मोबाइल नंबर मिलने पर पुलिस ने उस पर फोन किया. फोन उठाने वाले बताया कि वह आजमगढ़ जिले के मेहनगर से बोल रहा है. पुलिस ने मृत व्यक्ति का हुलिया बताया तो उसने पहचान कर ली. वह हरीचंद के घर जाकर घटना की सूचना दी. जानकारी मिलने पर परिजन गोरखपुर पहुंचे.

वर्जन

अज्ञात व्यक्ति की मौत की सूचना परिजनों को दी गई. मृतक की जेब में मिली डायरी में लिखे नंबरों से परिजनों को बताया गया.

ओमहरि बाजेपयी, एसएचओ, कैंट