मनोकामना मंदिर बचाने के लिए लोग कर रहे रतजगा

By: Inextlive | Publish Date: Thu 07-Dec-2017 04:01:22
A- A+
मनोकामना मंदिर बचाने के लिए लोग कर रहे रतजगा

RANCHI : ककचहरी चौक स्थित मनोकामना हनुमान मंदिर को बचाने के लिए विभिन्न धार्मिक संगठनों के सदस्य हर दिन रतजगा कर रहे हैं। उन्हें इस बात का भय है कि अगर वे यहां से हटेंगे तो प्रशासन की ओर से मंदिर को तोड़ा जा सकता है। बुधवार को कई धार्मिक संगठनों ने बैठक की जिसके बाद 5ाव्य आरती का आयोजन किया। बैठक में मनोकामना हनुमान मंदिर को बचाने के लिए रणनीति बनाई गई। मौके पर कई मंदिरों के पुजारी व महंतों ने कहा कि जब एक बार बजरंगबली की प्रतिमा की प्राण- प्रतिष्ठा कर स्थापना कर दी गयी है तो फिर इसे स्थानांतरित करना उचित नहीं है.

रात 5ार लंगर- कीर्तन दौर

इस मंदिर को बचाने के लिए लोग रात - दिन पूजा पाठ में जुटे हुए हैं। हर दिन सुबह से लेकर शाम तक लंगर चल रहा है और श्रद्धालुओं के बीच महा प्रसाद बांटा जा रहा है। सुबह से ही 5ाजन कीर्तन शुरू होता है वह रात भर चलता है। मंदिर प्रबंधन समिति के अध्यक्ष ल2ापति कुमार साहू ने बताया कि यहां 41 साल से पूजा कर रहे है.ं अब मंदिर तोड़ने की साजिश रची जा रही है। इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे.

40 करोड़ की लागत से बनना है भवन

जिस जगह मंदिर है, वहां जु़डको की ओर से नगर निगम के ऑफिस का न्यू बिल्डिंग बनाया जाना है। इसके लिए 40 करोड़ रुपए का फंड अलॉट किया जा चुका है। भवन निर्माण के बीच में मंदिर आ रहा है, जिस कारण निर्माण काम में बाधा आ रहा है। प्रशासन इस स्थान से मंदिर को स्थानांतरित करना चाहती है, लेकिन धार्मिक संगठनों द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है.

खोद डाला है 40 फीट का गढ्डा

नगर निगम के भवन निर्माण का शिलान्यास जुलाई माह में हुआ था। दो माह से यहां काम चल रहा है। ठेकेदार द्वारा मंदिर के अगल- बगल बिना किसी सूचना के 30- 40 फीट गहरी मिट्टी की खोदाई कर दी गई है, जिससे मंदिर के गिरने का खतरा उत्पन्न हो गया है। संगठनों ने कहा कि अगर मंदिर को किसी प्रकार का नुकसान हुआ तो पूरी जि6मेदारी जुडको और संवेदक की होगी।

अस्थायी पुलिस पिकेट में तैनात हैं जवान

मंदिर को बचाने के लिए लोग रात 5ार जाग रहे हैं। लोगों की ओर से कोई अनहोनी घटना का अंजाम नही दिया जाए इसके लिए अ अस्थाई तौर पर एक पुलिस पिकेट की स्थापना 5ाी की गई है। जहां पुलिस 24 घंटे नजर बनाए हुए है। शहर के बीचो बीच इस मंदिर को लेकर प्रशासन और धार्मिक संगठन के बीच क5ाी 5ाी टकराहट हो सकती है।

inextlive from Ranchi News Desk