delete

रोडवेज को जमीन ट्रांसफर करेगा एमडीए

By: Inextlive | Publish Date: Sat 20-May-2017 07:41:47
- +
रोडवेज को जमीन ट्रांसफर करेगा एमडीए

- मेरठ में सेटेलाइट बस स्टैंड योजना को मिलेगी गति

- फिलहाल एमसीटीएनएल के पास है लोहिया नगर में एमडीए की 5 एकड़ जमीन

- भैंसाली और सोहराबगेट बस अड्डे के शिफ्टिंग का शुरू होगा भागीरथ प्रयास

आई एक्सक्लूसिव

अखिल कुमार

मेरठ: मेरठ में सेटेलाइट बस स्टैंड की राह में आ रहे परेशानियों को दूर करने का प्रयास एमडीए वीसी और परिवहन विभाग कर रहा है। मेरठ सिटी ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन लिमिटेड को लोहिया नगर में दी गई 5 एकड़ में से 3 एकड़ भूमि अब रोडवेज को ट्रांसफर की जाएगी।

फिर जागी उम्मीद

मेरठ में सेटेलाइट बस अड्डे की स्कीम विभागीय लापरवाही के चलते दम तोड़ ही रही थी कि एनजीटी के खौफ में अफसर फिर एक बार हरकत में आ गए। एमडीए, परिवहन विभाग, यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड समेत विभिन्न विभागों को पार्टी बनाकर आरटीआई एक्टीविस्ट लोकेश खुराना ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में एक पीआईएल दाखिल की। सुनवाई में एनजीटी ने सभी विभागों को तलब करते हुए मेरठ में सेटेलाइट बस अड्डे की वकालत की। भैंसाली और सोहराबगेट बस अड्डों की शिफ्टिंग केस की सुनवाई और मास्टर प्लान के अनुपालन के मद्देनजर एक बार फिर सेटेलाइट बस अड्डे के निर्माण जागी है.

ट्रांसफर होगी जमीन

गुरुवार को परिवहन विभाग, आरटीओ के साथ बैठक कर प्राधिकरण वीसी योगेंद्र यादव ने योजना के इम्प्लीमेन्टेशन में आ रही बाधाओं की समीक्षा की। मालूम चला कि जिन जमीन पर प्राधिकरण बस अड्डे को प्लान किए हैं वो परिवहन निगम की है ही नहीं। स्वयं प्राधिकरण ने इस भूमि को 1 फरवरी 2012 में मेरठ सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड को 10 रुपये के स्टांप पर 99 साल की लीज पर दिया था। क्योंकि जेनर्म के तहत यहां लोकल बस सर्विसेज के लिए एक बस अड्डा बनाना था सो प्राधिकरण ने 2.5 करोड़ रुपये भी एमसीटीएनएल को दिया था। केंद्र सरकार की योजना का नोडल विभाग नगर विकास विभाग था। अब जब जेनर्म के तहत एमसीटीएनएल बस अड्डा नहीं बना पा रहा है तो एमडीए ने फैसला लिया है कि वो यह भूमि परिवहन विभाग को सेटेलाइट बस अड्डे के लिए ट्रांसफर कर देगा।

सोमवार हो होगा फैसला

प्राधिकरण वीसी के नेतृत्व में सोमवार को परिवहन विभाग, आरटीओ, एमसीटीएनएल एवं अन्य विभागों के अफसर लोहिया नगर स्थित साइट का निरीक्षण करेंगे। सेटेलाइट बस अड्डे की स्थापना के साथ ही सोहराबगेट डिपो को शिफ्ट करने की स्कीम एमडीए की है।

- - -

एमसीटीएनएल को एलाट की गई 5 एकड़ भूमि में से 3 एकड़ भूमि सेटेलाइट बस अड्डे के लिए परिवहन निगम को सौंपने की योजना है। फिलहाल साइट के निरीक्षण के बाद कार्यवाही आरंभ भी जाएगी।

योगेंद्र यादव, वीसी, प्राधिकरण

- - -

निगम लोहिया नगर में सेटेलाइट बस स्टैंड बनाने के लिए तैयार है, जमीन मिलते ही योजना को अमली जामा पहनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

एसके बनर्जी, आरएम, परिवहन निगम

inextlive from Meerut News Desk