RANCHI: रिम्स के पीजी स्टूडेंट्स की दादागीरी कम होने का नाम नहीं ले रही है. इसका एक और उदाहरण गुरुवार को देखने को मिला, जहां पीजी स्टूडेंट्स ने पर्ची काटने में देरी होने पर काउंटर में लगा शीशा ही तोड़ डाला. वहीं, कैश काउंटर के स्टाफ्स को भी अंजाम भुगतने की धमकी दे डाली. इस घटना में काउंटर पर बैठ स्टाफ्स बाल-बाल बच गए. भागते हुए कैश काउंटर के स्टाफ्स ने डिप्टी सुपरिटेंडेंट के पास गुहार लगाई. जहां डिप्टी सुपरिटेंडेंट ने स्टाफ्स को रिटेन कंप्लेन करने को कहा. साथ ही कहा कि इस मामले में डायरेक्टर ही कार्रवाई करेंगे. बताते चलें कि कुछ दिन पहले भी पीजी स्टूडेंट्स ने डेंटल विभाग में तोड़फोड़ की थी.

क्यों हुआ विवाद

पीजी स्टूडेंट्स कैश काउंटर में रसीद कटवाने के लिए पहुंचे थे. इस दौरान स्टाफ दूसरे मरीज की पर्ची काटने में लगे थे. इस पर पीजी स्टूडेंट्स ने पहले उनकी पर्ची काटने को कहा. ऐसे में स्टाफ ने कहा कि एक पर्ची काटने के बाद उनकी पर्ची काट दी जाएगी. इस पर स्टूडेंट्स ने कहा कि पहले उनकी पर्ची काटे और वे इंतजार नहीं करेंगे. सुनिता केरकेट्टा नामक मरीज के लिए अल्ट्रासाउंड की कैश रसीद कटाने वे पहुंचे थे.