शहर में कहीं दिखायी ना दे मिट्टी

By: Inextlive | Publish Date: Thu 14-Sep-2017 07:41:13
A- A+
शहर में कहीं दिखायी ना दे मिट्टी

- पीएम के आगमन की तैयारी की कमिश्नर ने की समीक्षा

- सुरक्षा, सफाई समेत अन्य व्यवस्था चाक- चौबंद करने का निर्देश

varanasi

प्रधानमंत्री के ख्ख् व ख्फ् सितम्बर को दो दिवसीय सम्भावित बनारस दौरे के दौरान सुरक्षा के मुकम्मल इंतजाम कराये जाने का निर्देश कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने दिया। कमिश्नर अनुश्रवण कक्ष में प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर किये जा रहे तैयारी की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नगर की प्रमुख सड़कों की हालत ख्0 सितम्बर तक दुरूस्त हो जानी चाहिए। कहा कि सड़कों पर कहीं भी मिट्टी दिखायी नही पड़नी चाहिए।

पीएम- सीएम रहेंगे साथ

कमिश्नर ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का प्रथम आगमन हो रहा है। कार्यक्रम की भव्यता को लेकर किसी भी स्तर पर कोई कोताही नहीं होनी चाहिये। लोक निर्माण विभाग के अभियंता को डीएलडब्ल्यू सहित अन्य स्थानों पर आयोजित कार्यक्रम स्थल पर लाइट एण्ड साउण्ड, सीटिंग एवं पण्डाल आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाए। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आगमन के मौके पर राज्यपाल राम नाईक, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा सहित केन्द्रीय एवं उत्तर प्रदेश के लगभग एक दर्जन मंत्री भी साथ रहेंगे। ऐसी स्थिति में सुरक्षा के चाक- चौबन्द इंतजाम सुनिश्चित कराये जाएंगे। डीएलडब्ल्यू में वॉटरप्रूफ पण्डाल लगाये जाने का निर्देश दिया। शहर के सभी डिवाइडरों का मरम्मत के साथ ही रंगाई- पुताई कराये जाने की जिम्मेदारी विकास प्राधिकरण एवं साफ- सफाई सहित प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने हेतु नगर निगम को जिम्मेदारी दी गयी। लंका- सोनारपुरा- गोदौलिया मार्ग पर आईपीडीएस को मुख्य मार्ग पर ख्फ् सितम्बर तक कार्य करने पर कमिश्नर ने पाबंदी लगायी ताकि सड़कों को ठीक कराया जा सके। उन्होंने सड़कों के किनारे लगे अवैध सभी होर्डिग को अभियान चलाकर हटवाये जाने के लिए नगर आयुक्त को निर्देशित किया। दीवारों के वाल राइटिंग को भी मिटवाकर सफेदी कराये जाने को कहा। बैठक में डीएम योगेश्वर राम मिश्र, एसएसपी आरके भारद्वाज, नगर आयुक्त डॉ। नितिन बंसल, सचिव विकास प्राधिकरण विशाल सिंह सहित अपर जिलाधिकारी नगर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन के अलावा लोक निर्माण विभाग, जल संस्थान, विद्युत आदि विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे.

inextlive from Varanasi News Desk