delete

एमएमएमयूटी छात्रों ने बनाई 30 हजार में इंसिनरेटर

By: Inextlive | Publish Date: Tue 21-Mar-2017 07:41:10
- +
एमएमएमयूटी छात्रों ने बनाई 30 हजार में इंसिनरेटर

i good news

- मेडिकल वेस्ट, गंदे कॉटन, सिनैट्री पैड का किया जा सकेगा डिस्पोजल

- इंसिनरेटर की डिजाइन तैयार करने में डीआईआईएस से बी.टेक स्टूडेंट्स को मिली मदद

GORAKHPUR: गोरखपुर में सैकड़ों की संख्या में प्राइवेट हॉस्पिटल्स, हॉस्टल्स हैं। हॉस्पिटल्स से निकलने वाले मेडिकल वेस्ट से जहां तमाम तरह की बीमारियां होती हैं, वहीं ग‌र्ल्स हॉस्टल व अन्य जगहों से फेंके गए सिनेट्री पैड से ्रइंफेक्शन का खतरा होता है। इस तरह के वेस्टेज का डिस्पोजल किया जाना बहुत जरूरी होता है लेकिन महंगी व्यवस्था होने के कारण यह सभी जगहों पर नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए एमएमएमयूटी के होनहारों ने एक ऐसा इंसिनरेटर तैयार किया है जिसकी लागत मात्र 30 से 35 हजार रुपए है। इस इंसिनरेटर को डिजाइन करने में डीआईआईएस (डिजाइन इनोवेशन एंड इंक्यूबेशन सेंटर) ने मदद की है।

लो कॉस्ट लो एनर्जी टेक्नोलॉजी

मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलाजी के बी.टेक स्टूडेंट्स ने जो इंसिनरेटर तैयार किया है, उसमें लो कॉस्ट लो एनर्जी टेक्नोलॉजी की मदद ली गई है। स्टूडेंट्स ने इसे तैयार करते हुए इस बात का खास ध्यान रखा है कि यह कम से कम लागत में तैयार हो जाए। इस पर खरा उतरते हुए स्टूडेंट्स ने मात्र 30- 35 हजार रुपए में इंसिनरेटर को तैयार कर एक नई उम्मीद जगाई है।

- - - - - - - - - - - - - - - - -

इसलिए पड़ी जरूरत

यूनिवर्सिटी कैम्पस में स्थित ग‌र्ल्स हॉस्टल से जो गंदे सिनैट्री पैड निकलते हैं, उनके डिस्पोजल की अब तक कोई व्यवस्था नहीं रहने के कारण प्रॉब्लम होती थी। एक तरफ इससे दुर्गध होता था तो दूसरी तरफ इंफेक्शन का खतरा रहता था। इसके लिए इंसिनरेटर की जरूरत थी लेकिन उसकी कॉस्ट काफी अधिक थी। इसलिए स्टूडेंट्स ने खुद ही इस दिशा में काम करना शुरू किया और आखिरकार सफलता पा ली.

- - - - - - - - - - - - - - - - -

ऐसा है इंसिनरेटर

- इंसिनरेटर लो कास्ट लो एनर्जी टेक्नोलॉजी पर बेस्ड है।

- इसकी डिजाइन 'इनोवेशन एंड इक्यूबेशन सेंटर' की मदद से तैयार की गई है.

- 30- 35 हजार ही है लागत

- ओजोन टेक्नोलॉजी बेस्ड पर करता है काम

- यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट समेत रिसर्च स्कॉलर्स से भी स्टूडेंट्स ने ली है मदद

- - - - - - - - - - - - -

और भी कई इंवेंशन में हैं लगे

बी.टेक स्टूडेंट्स ने लो कॉस्ट में इंसिनरेटर तैयार कर सबको चौंका दिया है। वहीं एमएमएमयूटी के रिसर्च स्कॉलर भी इस तरह के इंवेंशन में लगे हुए हैं। यहां के रिसर्च स्कॉलर ने अब तक 40 प्रोजेक्ट पर रिसर्च कर लिया है। एनर्जी इफिसिएंट लो कॉस्ट इनसिनरेटर फॉर हास्पिटल वेस्ट पर और काम चल रहा है.

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

वर्जन

लो कॉस्ट लो एनर्जी इनसिनरेटर टेक्नोलॉजी की मदद से दुर्गधयुक्त कॉटन, सिनैट्री पैड आदि के डिस्पोजल के लिए इनसिनरेटर लगाया गया है। इससे काफी फायदे होंगे।

प्रो। ओंकार सिंह, वीसी, एमएमएमयूटी गोरखपुर

inextlive from Gorakhpur News Desk