Movie review : दर्शकों को भाया रणदीप का ये चटक 'लाल रंग'

By: Inextlive | Publish Date: Fri 22-Apr-2016 04:15:01
A- A+
Movie review : दर्शकों को भाया रणदीप का ये चटक 'लाल रंग'
फिल्‍म की सबसे अच्‍छी चीज है इसका यूनिक और रोचक प्‍लॉट, जो प्रेरित है उस विषय से जिसने एक साथ कई जिंदगियों को प्रभावित किया है। इसके अलावा फिल्‍म का दूसरा रोचक हिस्‍सा हैं रणदीप हुड्डा, जिन्‍होंने इसमें शंकर नाम के व्‍यक्‍ित का किरदार निभाया है। शंकर एक अहम हिस्‍सा है उस रैकेट का, जो करता है खून का अवैध कारोबार।

ऐसे हैं किरदार
फिल्‍म श्‍ांकर नाम का ये किरदार काफी मंझा हुआ लगता है। जाहिर सी बात है कि रणदीप हुड्डा ने इसे बेहद इमानदारी के साथ जिया है। वह अपनी क्रिमिनल लाइफ के प्रति पूरी तरह से इमानदार है। इसके बावजूद हर तरह से काफी कूल नजर आते हैं और इसके साथ ही अपने स्‍टैंड और एक्‍शंस के साथ पूरी तरह से न्‍याय भी करते हैं।

'Laal Rang'
U/A; Drama
Director : Syed Ahmad Afzal
Cast : Randeep Hooda, Akshay Oberoi, Pia Bajpai, Rajniesh Duggal


फिल्‍म की कहानी
फिल्म की कहानी की बात करें तो ये आधारित है 2002 में हरियाणा के करनाल जिले पर। यहां के एक मेडिकल कॉलेज में शंकर मलिक (रणदीप हुड्डा), राजेश धीमान (अक्षय ओबेरॉय) और पूनम शर्मा (पिया बाजपेई) साथ में पढ़ाई करते हैं। इनमें से एक शंकर इस कॉलेज के ब्लड डिपार्टमेंट के साथ मिलकर खून का अवैध कारोबार करता है। इस बिजनेस में उसके तार दिल्ली से लेकर हरियाणा के अलग-अलग शहरों से जुड़े हैं। फिल्म में जहां राजेश एक तरफ पूनम से प्यार करके उससे शादी करना चाहता है, वहीं दूसरी ओर शंकर के साथ इस 'ब्लड रैकेट' में शामिल होकर गलत तरह से पैसे कमाने में भी शामिल हो जाता है। फिर क्‍या, धीरे-धीरे ये कहानी आगे बढ़ती है और आखिर में कुछ ऐसा होता है, जिससे ये पूरा गिरोह बुरी तरह से फंस जाता है।



गंभीर प्‍लॉट के बीच भी जिंदा रखा रिश्‍तों की नर्मी को
फिल्म की कहानी पूरी तरह से एक गंभीर मुद्दे की ओर इशारा कर रही है। कहानी में खून चोरी का बहुत बड़ा कारोबार सामने लाया गया है। वैसे देखा जाए तो फिल्‍म के बेहतर होने का पूरा क्रेडिट अफजल को मिलना चाहिए, जो ऐसी स्‍थितियों के बीच शंकर और राजेश जैसे दो दोस्‍तों की दोस्‍ती और राजेश संग उसकी रेपिडेक्‍स इंग्‍लिश स्‍पीकिंग गर्लफ्रेंड पूनम के प्‍यार को पूरी जगह दे पाए हैं। उनके किरदार से इमानदारी कर पाए हैं।  

अक्षय ओबरॉय और रणदीप दोनों ने किया कमाल
फिल्‍म में अक्षय ओबरॉय ने भी बेहद दमदार भूमिका निभाई है और खुद के किरदार से पूरी तरह से इंसाफ किया है। इनके अलावा रणदीप हुड्डा के किरदार के बारे में तो यूं भी किसी परिचय की जरूरत नहीं है। सच पूछिए, तो शायद ही कोई एक्‍टर ऐसा हो, जो एकसाथ गर्म और ठंडे दोनों मिजाज को शो करना जानता हो, जैसा कि रणदीप ने किया।

Review by : Shubha Shetty Saha
shubha.shetty@mid-day.com

inextlive from Bollywood News Desk