अब मिलेंगी सस्‍ती दवाईयां
दो दिन के गुजरात दौरे पर आए पीएम मोदी एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बोले कि, जेनेरिक दवाओं के लिए जल्द कानून आएगा। डॉक्टर भी मरीजों को जेनरिक दवाएं ही लिखें। यह कानून काफी कड़ा होगा, जिसके बाद डॉक्‍टरों को सस्‍ती दवाईंया लिखना अनिवार्य हो जाएगा। यहां एक निजी हॉस्‍पिटल के उद्घाटन के मौके पर मोदी ने कहा कि, उनकी सरकार लोगों को सस्‍ती दवाएं उपलब्‍ध करवाने और जरूरी दवाओं की कीमतें तय करने के लिए कई महत्‍वपूर्ण कदम उठाने जा रही है।

सस्‍ता इलाज! डॉक्‍टर पर्चे पर लिखेंगे सस्‍ती दवाइयां,सरकार लाएगी कानून
इन स्‍टोर्स पर होगी उपलब्‍ध
मोदी सरकार से पहले यूपीए के पहले कार्यकाल में भी इसी तरह की योजना शुरु की गई थी। यूपीए 1 के कार्यकाल में जन औषधि स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी लेकिन डॉक्‍टरों की वजह से यह फ्लॉप हो गई। कोई सख्‍त कानून न होने के चलते डॉक्‍टर्स पर्चे पर ब्रांडेड और मंहगी दवाएं लिखते थे। ऐसे में जन औषधि स्‍टोर पर जेनरिक दवाओं की बिक्री नहीं हो पाई। उस समय सरकार ने देशभर में कुल 125 जन औषधि स्‍टोर खोले थे। लेकिन दवाईयां न बिकने के कारण इन्‍हें बंद करना पड़ा।

सस्‍ता इलाज! डॉक्‍टर पर्चे पर लिखेंगे सस्‍ती दवाइयां,सरकार लाएगी कानून
देशभर में 3000 नए स्‍टोर्स खुलेंगे
मोदी सरकार इन जन औषधि स्‍टोर को नए सिरे से शुरु करने जा रही है। इस बार यह योजना यूपीए वाली स्‍कीम से काफी बड़ी और व्‍यापक होगी। केंद्र सरकार ने देश भर में 3000 से ज्‍यादा नए औषधि स्‍टोर खोलने का लक्ष्‍य तय किया है। ऐसे में जो व्‍यक्‍ित इन स्‍टोर्स को खोलेगा, उसे पहले की तुलना में ज्‍यादा आर्थिक प्रोत्‍साहन देने का प्रावधान किया गया है। पीएम ने कहा कि मेरी सरकार ने लोगों के लिए इलाज सस्ता करने की तरफ कदम बढ़ाते हुए दिल के मरीजों को लगने वाला डेढ़ से दो लाख रुपए का स्टेंट 20-22 हजार में उपलब्ध करवाया है। 40 हजार के स्टेंट की कीमत 7 हजार रुपए करवाई है।

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk