अब हाथ नहीं, दिमाग के सिग्‍नल से चलेगी आपकी कार! इस कंपनी ने लॉन्‍च की चौंकाने वाली टेक्‍नोलॉजी

By: Chandra Mohan Mishra | Publish Date: Sat 06-Jan-2018 08:05:35   |  Modified Date: Fri 05-Jan-2018 08:27:56
A- A+
अब हाथ नहीं, दिमाग के सिग्‍नल से चलेगी आपकी कार! इस कंपनी ने लॉन्‍च की चौंकाने वाली टेक्‍नोलॉजी
अभी तक तो देश दुनिया में ड्राइवरलेस कार टेक्‍नोलॉजी और उनके भविष्य के बारे में ही लोग बाते कर रहे थे और एक कार कंपनी इससे भी कई कदम आगे जाकर कार ड्राइविंग की सबसे अनोखी टेक्‍नोलॉजी लेकर दुनिया के सामने आ रही है। जी हां जापान की फेमस ऑटोमोबाइल कंपनी Nissan जल्द ही कार ड्राइविंग की ऐसी तकनीक लेकर आ रही है, जिसमें कार में बैठा व्‍यक्ति अपने हाथों और पैरों से नही बल्कि अपने दिमाग से कार को ड्राइव करेगा।

'Brain-to-vehicle' टेक्‍नोलॉजी से लैस कार चलेगी दिमाग के इशारे पर

अनोखी और चौंकाने वाली टेक्‍नोलॉजी को डेवलप करने के मामले में जापानियों का वाकई कोई जवाब नहीं है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि अमेरिका से लेकर जर्मनी तक तमाम देश सालों से ड्राइवरलेस कारों को सड़कों पर लाने को तुले हुए हैं, लेकिन कुछ ही देशों में सफल टेस्टिंग के अलावा दुनिया के किसी भी शहर में ड्राइवरलेस कारें सक्‍सेसफुली नहीं चलाई जा सकीं। पर अब जापान की फेमस कार निर्माता कंपनी Nissan ने एक टेक्‍नोलॉजी को पेश किया है, जो दुनिया में कार और बाकी 4 व्‍हीलर्स को ड्राइव करने के पूरे विज्ञान को बदलकर रख देगी। Nissan ने इस अनोखी तकनीक को 'Brain-to-vehicle' नाम दिया है। इसका मतलब है कि इस तकनीक के साथ आने वाली कार इतनी स्‍मार्ट होगी कि स्‍टीयरिंग के बिना, सिर्फ कार चलाने वाले के दिमाग को रीड करके कार को सड़कों पर दौड़ाएगी। आम भाषा मे इस तकनीक को ब्रेन से कार चलाना कहा जाता है।

 

ताली बजाते ही आपका मिसिंग फोन खुद बताएगा कि मैं यहां हूं! ये होगा कैसे जानिए बस 2 मिनट में

 

Las Vegas के इलेक्‍ट्रानिक्‍स शो में पेश होगी यह अनोखी तकनीक

Nissan कंपनी B2V नाम की इस तकनीक से लैस कार को अगले हफ्ते अमेरिका के Las Vegas में होने वाले इंटर्नेशनल कंज्‍यूमर शो में पेश करने वाली है। कंपनी के एक्‍सीक्‍यूटिव वाइज प्रेजीडेंट का दावा है कि B2V तकनीक दुनिया में अपनी तरह की पहली टेक्‍नोलॉजी है, जो दिमाग के सिग्‍नल्‍स को रियल टाइम ट्रैक करके वाहनों को ड्राइव करेगी।

 

यह चार्जर चलेगा असली Wi-Fi पर! यानि पूरे घर के फोन दूर बैठकर ही हो जाएंगे चार्ज

 

ऐसे चलेगी दिमागी संकेतों से ऑपरेट होने वाली कार

Nissan मोटर्स की ओर से कार ड्राइविंग की इस नई तकनीक को लेकर बताया गया है कि इसमें कार की ड्राइविंग सीट पर बैठा व्‍यक्ति अपने सिर पर माइक्रोसेंसर से लैस एक एक छोटी सी कैप लगाएगा। यह कैप हर सेकेंड ड्राइवर की ब्रेन मैपिंग करेगी और उससे निकलने वाले संकेतों को इस हाईटेक कार को भेजेगी। यहीं प्रोसेस कार को सड़क पर दौड़ाएगा। कार चलाने को लेकर दिमाग में चल रही हर एक वेव एक्‍टीविटी को ये ब्रेन सेंसर रियल टाइम में ट्रैक करेंगे और कार में लगा Autonomous ड्राइविंग सिस्‍टम इस सिग्‍नल को प्रोसेस करके कार को ड्राइव करेगा।

 

Gmail, फेसबुक के पासवर्ड वेब ब्राउजर पर सेव करने की आदत है तो बदल डालिए, वर्ना ये कंपनियां सब कुछ चुरा लेंगी!

 

ड्राइवर से ज्‍यादा तेजी से कार को कंट्रोल करने में सक्षम

अगर आप सोच रहे हैं कि ब्रेन से कार तक इन संकेतों को पहुंचने में तो काफी समय लगेगा, तब तो चल चुकी कार और एक्‍सीडेंट तो कभी भी हो सकता है। तो जनाब ऐसा बिल्‍कुल भी नही है। कार में Autonomous ड्राइविंग सिस्‍टम ड्राइवर के दिमाग से निकलने वाले वेव सिगनल्‍स को बहुत तेजी से प्रोसेस करके रोड पर बिल्‍कुल सही डिसीजन लेने की क्षमता रखता है। यहीं नही ये B2V कार टेक्‍नोलॉजी किसी ड्राइवर की तुलना में 0.2 to 0.5 सेकेंड्स तेजी से कार को कंट्रोल और हैंडल कर सकती है। पलक झपकने से पहले ही यह तकनीक कार का मोड़ने या स्‍लो कर सकती है।

 

 

 

यह चार्जर चलेगा असली Wi-Fi पर! यानि पूरे घर के फोन दूर बैठकर ही हो जाएंगे चार्ज

International News inextlive from World News Desk

खबरें फटाफट