नो जुर्माना नो क‍िचक‍िच , अब सीधे परमिट होगा कैंसिल

By: Inextlive | Publish Date: Sat 10-Feb-2018 12:24:17   |  Modified Date: Sat 10-Feb-2018 12:35:09
A- A+
नो जुर्माना नो क‍िचक‍िच , अब सीधे परमिट होगा कैंसिल
kanpur@inext.co.in kanpur. शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के लिए नासूर बन चुके डग्गामार वाहनों के ऑपरेशन की तैयारी हो चुकी है. डग्गामार बस, मैजिक या फिर मारुती वैन सभी का परमिट सस्पेंड किय जाएगा. डग्गामार वाहनों के कारण होने वाले हादसों को देखते हुए इन पर अंकुश लगाने के लिए डीएम ने आदेश जारी कर दिए हैं.

- शहर में ट्रैफिक व्यवस्था के लिए आतंक बन चुके डग्गामार वाहनों पर अंकुश के लिए डीएम ने दिया आदेश

- एआरटीओ की टीम ने डग्गामारी करते पकड़ी 16 बसें,ंपरमिट निलंबन के लिए संबंधित विभाग को भेजा

कार्रवाई करने का आदेश दिया
डीएम ने आरटीओ को डग्गामार वाहनों पर जुर्माना करने के बजाए परमिट सस्पेंड करने की कार्रवाई करने का आदेश दिया है. आदेश के मुताबिक, परमिट नियमों का उलंघन करने वाले वाहनों के परमिट को तीन माह के लिए निलंबित करने को राज्य परिवहन प्राधिकरण व रीजनल ट्रांसपोर्ट प्राधिकरण को भेजा जाएगा. आदेश पर एक्शन लेते हुए एआरटीओ प्रवर्तन की टीम ने तीन दिन 16 डग्गामार बसों को पकड़ा है जिनके परमिट सस्पेंड करने के लिए संबंधित विभाग को भेज दिया है.

शताब्दी, कमला ट्रेवल्स पर कार्रवाई

एआरटीओ प्रभात पांडेय ने बताया कि फ्राईडे को चेकिंग के दौरान शताब्दी ट्रेवल्स की दो बसें व कमला ट्रैवल्स की एक बस को परमिट नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया गया. बसों को खड़ा करा दिया गया है. साथ ही परमिट निलंबन करने के लिए संबंधित विभाग को एक दो दिनों में भेज दिया जाएगा. एआरटीओ के मुताबिक अभी तक परमिट शर्तो का उलंघन कर डग्गामारी करने वाली बसों पर 10 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाता था. जिसको ट्रेवल्स एजेंसी भर देते हैं और फिर डग्गामारी शुरू कर देते है. शहर की कुछ बड़ी ट्रेवल्स एजेंसियों की मनमानी को बीते दिनों एआरटीओ ने बैठक के दौरान डीएम के सामने रखा था. डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डग्गामारी करने वाली बसों के परमिट निलंबन करने का आदेश दिया है.

क्या है नियम
ऑल इंडिया बस परमिट- ट्रेवल्स एजेंसियों की बसों को ऑल इंडिया परमिट सिर्फ टूरिस्ट बुकिंग के लिए जारी किया जाता है.

क्या करते हैं डग्गमार?
बस ट्रेवल्स एजेंसियां परमिट नियमों का उलंघन कर बसों में फुटकर यात्रियों की बुकिंग करते है. साथ ही सफर के बीच से भी यात्रियों की टिकट बुकिंग करते है.

क्या है नियम
मारुती वैन- मारुती वैन को प्राइवेट परमिट दिया जाता है.

यह करते डग्गमारी
मारुती वैन मालिक वैन को कॉमर्शियल यूज में लाते है. जोकि परमिट नियमों के विरुध हैं.

क्या है नियम
मैजिक वाहन- मैजिक वाहनों को कांट्रेक्ट सवारी का परमिट जारी किया जाता है.

कैस करते हैं डग्गामारी
परमिट नियमों का उलंघन करते हुए मैजिक वाहनों के मालिक अपने वाहनों को फुटकर यात्री को ढोते है. जोकि नियम के विरुध हैं.

ऑल इंडिया बस परमिट 598

12 बड़ी ट्रेवल्स एजेंसियां

24 छोटी ट्रेवल्स एजेंसिया

300 से अधिक बसें करती डग्गामारी

आंकड़े-आरटीओ कानपुर नगर के ऑफिस के मुताबिक

डग्गामार पैसेंजर व्हीकलों पर शिकंजा कसने के लिए डीएम ने परमिट निलंबन करने की कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है. जिसकी पहल भी कर दी गई है.
प्रभात पांडेय, एआरटीओ, प्रवर्तन