शिकायतें आती हैं, पर सुनी नहीं जाती हैं

By: Inextlive | Publish Date: Wed 15-Nov-2017 07:01:17
A- A+
शिकायतें आती हैं, पर सुनी नहीं जाती हैं

- नगर निकाय कंट्रोल रूम में आने वाली शिकायतों का नहीं हो रहा निस्तारण

- अस्सी फीसदी शिकायतें अभी भी वेटिंग में, दिया गया रिमाइंडर

ALLAHABAD: शिकायतें होंगी तो उनका हल भी होगा, लेकिन यहां हाल दूसरा है। बात हो रही है नगर निकाय कंट्रोल रूम की। यहां आने वाली शिकायतों का निस्तारण काफी धीमी गति से हो रहा है। अब तक जितनी शिकायतें दर्ज हुई हैं उनमें से अस्सी फीसदी संबंधित विभागों के पास पड़ी हैं। इनका निस्तारण नहीं होने पर कंट्रोल रूम की ओर से विभागों को रिमाइंडर भी भेज दिया गया है।

डीएम ने दिया था सख्त आदेश

नगर निकाय चुनाव का नामांकन शुरू होते ही विकास भवन के अर्थ एवं संख्या अधिकारी के ऑफिस में चुनावी कंट्रोल खोला गया था। यह मतगणना होने तक संचालित होगा। डीएम सुहास एल वाई ने साफ तौर कहा था कि कंट्रोल रूम में आने वाली शिकायतों का तत्काल निस्तारण करा दिया जाए। चुनाव के दौरान शिकायतों को लंबित नहीं रखने का आदेश सीधे चुनाव आयोग ने दिया है। बावजूद इसके शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बरती जा रही है।

चुनाव के बाद निकलेगा हल?

बता दें कि अब तक कंट्रोल रूम में 25 शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इनमें से महज छह का निस्तारण किया गया है। बाकी में संबंधित विभाग द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया है। जबकि अधिकतर शिकायतें मतदाता सूची में गड़बड़ी से जुड़ी हैं। कंट्रोल रूम के कर्मचारियों का कहना है कि शिकायत आते ही इसकी जानकारी संबंधित विभाग को दे दी जाती है। अब इनका हल नहीं होने पर रिमाइंडर भेजा गया है। मतदाता सूची में गड़बड़ी जैसी शिकायतों का हल होना भी जरूरी है। अगर निस्तारण नही हो रहा तो शिकायतकर्ता को उचित जवाब देना भी विभाग का काम है।

शिफ्ट वाइज लगते हैं लोग

कंट्रोल रूम में कुल 11 लोगों की ड्यूटी लगाई हैं, जिसमें से तीन- तीन लोग आठ- आठ घंटे की शिफ्ट में ड्यूटी करते हैं।

वर्जन

रात में भी लोगों को ड्यूटी लगाई जा रही है। लोगों की शिकायतों का दर्ज किया जा रहा है। कुल 11 लोगों की ड्यूटी लगाई गई है कंट्रोल रूम में जो शिफ्ट में काम करते हैं।

- अरविंद कुमार सक्सेना, सह प्रभारी कंट्रोल रूम

inextlive from Allahabad News Desk