अब भारतीयों को मिली खोए सामान को ट्रैक करने की आसान सुविधा

हवाई सफर के दौरान अगर आपका कोई सामान खो गया है तो अब आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। क्‍योंकि अब सरकार ने भारतीय पैसेंजर्स के लिए एक ऐसी स्‍मार्ट सर्विस शुरु की है, जिसके द्वारा पैसेंजर्स एक मोबाइल ऐप पर ही खोए हुए सामान की कंप्‍लेन और वापस मिलने तक सामान का पूरा रिकॉर्ड मोबाइल पर ही ट्रैक कर सकेंगे। दरअसल हवाई अड्डों से लेकर सिविल एवीएशन व्‍यवस्‍था की सुरक्षा करने वाले सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्यॉरिटी फोर्स यानि CISF ने Lost and Found नाम की एक नई सर्विस शुरु की है, जिसके द्वारा लोग घर बैठे या कहीं से भी अपने खोए हुए सामान को ट्रैक कर सकते हैं। इस सर्विस के द्वारा आप अपने स्‍मार्टफोन पर तुंरत जान पाएंगे कि आपका खोया हुआ सामान इस वक्‍त कहां है और आपको कब तक वापस मिलेगा। यही नहीं CISF की इस नई स्‍मार्ट सर्विस से इमरजेंसी की कंडीशन में आपको कई तरह की सहायता भी मिल जाएंगी।

हवाई सफर के दौरान खोया सामान खोजकर आपको बताएगी ये ऐप! भारत में शुरु हुई नई सर्विस


माइक्रोसॉफ्ट के आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस ने किया कमाल, चीनी भाषा का अंग्रेजी में किया सटीक अनुवाद

उमंग ऐप में शामिल हुआ Lost and Found का नया फीचर

बता दें कि जिन लोगों के एंड्राएड या आईफोन पर Umang ऐप मौजूद है, वो लोग अपनी ऐप को अपडेट करने के बाद लॉस्‍ट एंड फाउंड सेक्‍शन में जाकर हवाई सफर में खोए अपने सामान को ट्रैक कर सकते हैं। Unified Mobile Application for New-age Governance यानि उमंग की टेक टीम ने सरकार की इस मल्‍टी सर्विस ऐप में ही लॉस्‍ट एंड फाउंड फीचर एड किया है। जिसके द्वारा CISF से जुड़ी तमाम शिकायतों और समस्‍याओं को समाधान आसानी से हो सकेगा और लोगों को इसके लिए भागदौड़ भी नहीं करनी पड़ेगी। CISF के प्रवक्ता के मुताबिक इस ऐप में दिए CISF के सेक्‍शन में जाकर कंज्‍यूमर नई कंप्‍लेन दर्ज करा सकते हैं। अपनी पुरानी कंप्‍लेन का स्‍टेट्स देख सकते हैं। साथ ही अगर उन्‍हें किसी मामले में CISF की मदद या सलाह चाहिए, तो वो काम भी इसी ऐप द्वारा आसानी से हो सकेगा। इस ऐप को आप गूगल प्‍ले स्‍टोर या आईट्यून स्‍टोर के अलावा IT मिनिस्‍ट्री की ऑ‍फीशियल वेबसाइट से भी डाउनलोड करके इंस्‍टॉल कर सकते हैं।


ये 10 कीबोर्ड शॉर्टकट आपका काम कर देंगे आसान, जाने बिना नहीं चलेगा काम

2015 में CISF ने शुरु की थी हवाई यात्रियों के लिए यह सुविधा

आपको बता दें कि Lost and Found नाम की यह सर्विस CISF ने अभी नहीं बल्कि साल 2015 में शुरु की थी। CISF की वेबसाइट पर शुरु की गई इस सर्विस के द्वारा अब तक 5.49 करोड़ रुपयों का सामान यात्रियों तक वापस पहुंचाया गया, जबकि करीब 50 करोड़ की प्रॉपर्टी को रीस्टोर किया जा चुका है। अब CISF ने अपनी इस सर्विस को उमंग ऐप में जोड़कर पब्लिक के लिए आसान बना दिया है। अब ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग आसानी ने CISF की इस सुविधा का फायदा उठा सकेंगे और घर बैठे अपने सामान की सही स्थिति जान सकेंगे।


इस टीचर ने बिना कंप्‍यूटर के ही ऐसे पढ़ा डाला microsoft word, कि दुनिया देखती रह गई

Technology News inextlive from Technology News Desk