दो बड़े बदलाव किए
विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट को लेकर दो बड़े बदलाव किए हैं। जिसके तहत अब भारतीय नागरिकों को एक सप्ताह के भीतर ही फ्रेश पासपोर्ट मिल जाया करेगा। विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट बनवाने की प्रकिया को काफी आसान बना दिया है। अब लोगों को एक पासपोर्ट के लिए महीनों का इंतजार नहीं करना होगा। इस संबंध में केंद्रीय विदेश मंत्री सुशमा स्वराज ने हाल ही ट्वीट कर इन नए नियमों के बदलाव की जानकारी दी है। जिसके तहत अगर पासपोर्ट के लिए अप्‍लाई करते समय आवेदक आधार कार्ड - वोटर आईडी कार्ड - पैन कार्ड एक साथ जमा करना होगा। इतना ही नहीं इसके साथ फॉर्मेट एनेक्सचर-1 के साथ नो क्रिमिनल केस का एक एफिडेविट भी जमा करना होगा। इसके साथ पासपोर्ट की साइट पर भी काफी बदलावा किए गए हैं। जिसमें अब आप कोई भी डेट ऑप्‍शन में असानी से ले सकते हैं।

रद्द हो जाएगा पासपोर्ट
इतना ही नहीं इसके अलावा 'एम पासपोर्ट पुलिस एप्स' के जरिए, जो कोड पासपोर्ट ऑफिस पुलिस को भेजेगा, उस कोड के जरिए पुलिस अपनी रिपोर्ट पासपोर्ट ऑफिस को भेज पाएगी। जिससे सबसे खास बात तो यह है कि अगर अप्लीकेंट के पास आधार, वोटर और पेन कार्ड है तो पुलिस वेरिफिकेशन के बगैर उसे पासपोर्ट जारी हो जाएगा। गौरतलब है कि हाल ही में हुए बदलावों के तहत पासपोर्ट पासपोर्ट केंद्र आधार नंबर की वैधता की जांच अब ऑनलाइन करेगा। इसके अलावा वोटर आईडी कार्ड और पैन कार्ड की भी जांच होगी। ऐसे में अगर कोई डाक्‍यूमेंट कुछ गड़बड़ पाया गया तो पासपोर्ट की प्रक्रिया रद्द हो जाएगी।

inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk