एक क्लिक बतायेगी टॉवर की लोकेशन
संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि यह पोर्टल मोबाइल टावर से निकलने वाली तरंगों के बारे में फैले भ्रम को तोडऩे का काम करेगा। यह कस्मटर्स को एक माउस के क्लिक पर किसी क्षेत्र में कार्यरत तमाम टावरों के बारे में जानकारी देगा। यह बताएगा कि किसी खास टावर से निकलने वाली तरंगें सरकार की ओर से तय मानकों के अनुरूप हैं या नहीं। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों ही ग्वालियर के एक 42 वर्षीय मरीज की मांग पर उसके इलाके से मोबाइल टावर हटाने का आदेश दिया था।

मरीज ने किया टॉवर से विकिरण निकलने का दावा
मरीज ने दावा किया था कि इस टावर से निकलने वाली घातक तरंगों के कारण ही उसे कैंसर हुआ है। कोर्ट के इस आदेश के बाद मोबाइल टावरों से उत्सर्जित होने वाले विकिरण को लेकर जारी बहस नए सिरे से तेज हो गई थी। हालांकि, सरकार का कहना है कि भारतीय मोबाइल टावर पूरी तरह सुरक्षित हैं। सरकार ने इन पर विकिरण उत्सर्जन के इतने सख्त मानक लागू कर रखे हैं जितने विकसित देशों में भी नहीं हैं। ऐसे में मरीज का दावा कितना सही साबित होता है ये तो वक्‍त ही बतायेगा।

Technology News inextlive from Technology News Desk

Technology News inextlive from Technology News Desk