बोर्ड परीक्षाओं में नकल करने वाली ग‌र्ल्स पर नजर रखेंगी ये मैडम

By: Inextlive | Publish Date: Sat 06-Jan-2018 10:45:25   |  Modified Date: Sat 06-Jan-2018 10:49:24
A- A+
बोर्ड परीक्षाओं में नकल करने वाली ग‌र्ल्स पर नजर रखेंगी ये मैडम
GORAKHPUR: यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल करने वाली गर्ल स्टूडेंट्स की भी खैर नहीं होगी. डीआईओएस ऑफिस के यूपी बोर्ड को-ऑर्डिनेटर साफ-सुथरी छवि वाले तेज तर्रार टीचर्स की लिस्ट तैयार करवा रहे हैं. यह टीचर्स स्वकेंद्र परीक्षा वाले गर्ल स्टूडेंट्स वाले कॉलेजेज में केंद्र व्यवस्थापक की अहम भूमिका निभाएंगे. जिले में 102 स्वकेंद्र परीक्षा वाले कॉलेज हैं.

- यूपी बोर्ड परीक्षा में गर्ल स्टूडेंट्स की परीक्षा होगी स्वकेंद्रीय, बाहरी स्कूलों के टीचर्स होंगे सेंटर इंचार्ज

होगी सरप्राइज चेकिंग
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं छह फरवरी से शुरू होंगी. इस बार कुल 196 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. जिनमें करीब 102 कॉलेजेज में गर्ल स्टूडेंट्स का बोर्ड सेंटर स्वकेंद्र होगा. इन स्वकेंद्र सेंटर्स पर बाहरी टीचर्स को सेंटर इंचार्ज बनाया जाएगा. पिछले साल तक गर्ल कॉलेजेज प्रिंसिपल को ही केंद्राध्यक्ष बना दिया जाता था, लेकिन इस बार नकल की संभावनाओं को पूरी तरह खत्म करने के लिए ऐसा नहीं किया जाएगा.

आंतरिक सचल दल

यूपी बोर्ड परीक्षा को-ऑर्डिनेटर प्रमोद कुमार बताते हैं कि किसी भी सूरत में बोर्ड परीक्षा को नकलविहीन संपन्न कराना हमारी प्राथमिकता है. इसके लिए तेज तर्रार टीचर्स की लिस्ट बनाई जा रही है. इन्हें स्वकेंद्र परीक्षा वाले कॉलेजेज में सेंटर इंचार्ज के रूप में तैनात किया जाएगा. परीक्षा कक्ष में प्रवेश लेने से पहले ही गेट पर कॉलेज का आंतरिक सचल दल स्टूडेंट्स की अच्छी तरह से तलाशी लेगा. परीक्षा स्टार्ट होने के बाद सेंटर इंचार्ज के इशारे पर यह दल किसी भी रूम की सरप्राइज चेकिंग ले सकता है.

साल 2017-2018

10वीं में परीक्षार्थियों की संख्या - 93,483

12वीं में परीक्षार्थियों की संख्या - 76,574

10वीं व 12वीं में कुल परीक्षार्थियों की संख्या - 1,70,057

पिछले साल के अपेक्षा इस बार 7,601 परीक्षार्थी ज्यादा हैं

परीक्षा केंद्रों की संख्या- 196

वर्जन
ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज स्वकेंद्र होगा. इन स्कूलों में नकल न हो इस लिहाज से बाहरी टीचर्स को केंद्रव्यवस्थापक बनाया जाएगा. इसकी सूची तैयार की जा रही है.

- ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया, डीआईओएस