allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD: जीवन के 60 बसंत देख चुके पेंशनर्स को अब पेंशन से जुड़ी तमाम डिटेल के लिए ट्रेजरी के चक्कर नहीं काटने होंगे। गवर्नमेंट ने विभागीय वेबसाइट को पहले से अधिक पेंशन फ्रेंडली बना दिया है। पेंशनर्स की मांग को देखते हुए मोबाइल अलर्ट सिस्टम को भी खत्म कर दिया गया है। अब उन्हें एक स्टेप पूरा करने के बाद पेंशन के बारे में प्रत्येक अपडेट पलक झपकते ही मिल जाएगी।

बस अकाउंट नंबर होना चाहिए याद
गवर्नमेंट की ओर से पेंशनर्स के लिए बनाई गई वेबसाइट कोशवाणी अब पहले से ज्यादा पेंशनर फ्रेंडली हो गई है। अब इसे उम्रदराज पेंशनर आसानी से यूज कर पाएंगे। पहले उन्हें इस साइट को एक्सेस करने के लिए अपना मोबाइल नंबर डालना पड़ता था, फिर ओटीपी के जरिए वह सुविधाओं का यूज कर पाते थे। इसमें पेंशनर्स को परेशानी होती थी। नए सिस्टम में पेंशनर्स को केवल अपना अकाउंट नंबर ही डालना होगा।

पता चल जाएगा सर्टिफिकेट अपडेशन
पेंशनर्स को साल में एक बार अपना लाइफ सटिफिकेट अपडेट करना होता है। इसके उन्हें ट्रेजरी आफिस के चक्कर लगाने होते थे। वेबसाइट अपडेट होने के बाद एक क्लिक पर आपको पता चल जाएगा कि किस डेट से पहले आपको सर्टिफिकेट अपडेट कराना होगा। इसके अलावा पेंशनर्स को इनकम टैक्स के बारे में भी पूरी जानकारी मिलती है। उन्हें पता चल जाएगा कि हर माह उनके खाते में कितना पैसा आ रहा है और कितना इनकम टैक्स में कट हो रहा है।

42 हजार पेंशनर्स के लिए फायदा
कोशवाणी वेबसाइट तो लंबे समय से चल रही है लेकिन इसमें सुधार की मांग लगातार की जा रही थी। बता दें कि मुख्य ट्रेजरी ऑफिस से जिले के 42 हजार पेंशनर्स जुड़े हैं और उनको छोटी- छोटी जानकारी के लिए ऑफिस आना पड़ता था। यह वेबसाइट पहले केवल ऑफिशियल परपज के लिए थी। लेकिन अब यह गूगल पर आसानी से उपलब्ध है। अधिकारियों की माने तो पेंशनर्स के लिए अन्य सुविधाएं भी जल्द ही वेबसाइट पर उपलब्ध होंगी।

कोशवाणी वेबसाइट पहले से अधिक बेहतर हो गई है। इसमें नए फीचर्स जोड़े गए हैं। जिसका सीधा फायदा पेंशनर्स को मिलेगा। वह गूगल के माध्यम से अपने फोन या कम्प्यूटर पर पूरी जानकारी वेबसाइट से हासिल कर सकते हैं।
- अवनीश चंद्र द्विवेदी, मुख्य कोषाधिकारी इलाहाबाद