- 25 एलएल फ्लक्चुएशन की रियायत के बाद भी 10 एमएल ग्राहकों को कम दे रहे थे फ्यूल

- प्रत्येक माह करीब 7 और सलाना 84 लाख लीटर फ्यूल की पेट्रोल पंप से होती है बिक्री

>BAREILLY: डीएसओ इंस्पेक्शन में पेट्रोल पंप्स पर घटतौली के खेल बड़ा खुलासा हुआ है. बरेलियंस की जेब पर किस कदर पेट्रोल पंप ओनर्स चूना लगा रहे थे, इसका पता महज एक ही पेट्रोल पंप पर हुए इंस्पेक्शन में पता चल गया है. पेट्रोल पंप सलाना करीब 3 लाख रुपए का चूना बरेलियंस को लगा रहा था. मामले की तह में जाकर जब आई नेक्स्ट ने पड़ताल की तो घटतौली के धंधे का पूरा खेल समझ में आ गया. आइए आपको बताते हैं. पेट्रोल पंप से हो रहे पूरे खेल का सच..

डीएसओ ने पकड़ी घटतौली

प्रभा टाकीज के अपोजिट इंडियन ऑयल के कोको पेट्रोल पंप पर थर्सडे को डीएसओ ने घटतौली की सूचना पर सचल दल के साथ छापेमारी की थी. जिसमें बाट माप अधिकारियों की नाप में प्रत्येक 5 लीटर पर 10 एमएल की घटतौली पाई गई. सनद रहे कि इस पेट्रोल पंप पर बरेलियंस को सर्वाधिक शुद्ध फ्यूल मिलने का विश्वास था. जांच में घटतौली पकड़े जाने पर अब शहर के किसी भी पेट्रोल पंप पर शहरवासियों को भरोसा नहीं रहा. बता दें कि इस पेट्रोल पंप पर माह भर में करीब 7 लाख लीटर फ्यूल की बिक्री हाेती है.

लाखों का लगा रहे थे चूना

पेट्रोल पंप पर हर 5 लीटर में 10 एमएल की घटतौली मिली है. यानि करीब 1.22 लाख रुपए पर मंथ का मुनाफा और इतना ही ग्राहकों को चूना. यह स्थिति तब है जब 25 एमएल के फ्लक्चुएशन की छूट विधिक विज्ञान अधिनियम के तहत पेट्रोल पंप को मिली है. ऐसे में देखा जाए तो बरेलियंस को प्रत्येक 5 लीटर पर करीब 35 एमएल कम मिल रहा था. इसके मुताबिक करीब 3.05 लाख रुपए की चपत लग रही थी. यह सिर्फ एक पेट्रोल पंप का डाटा है.

13 फिलिंग स्टेशन का लाइसेंस होगा रद

मिलावटी फ्यूल बिक्री और घटतौली कर रहे 13 फिलिंग स्टेशन के लाइसेंस रद होंगे. डीएम सुरेंद्र सिंह डीएसओ से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है. बरेली, बदायूं और शाहजहांपुर के डीएसओ से सैटरडे तक फिलिंग स्टेशन की जानकारी मांगी है, जो पब्लिक को ठगने का काम कर रहे हैं. बरेली से जिस फिलिंग स्टेशन का नाम सामने है वह एस्सार कंपनी का राज फिलिंग स्टेशन है. फिलहाल बरेली के एक फिलिंग स्टेशन का लाइसेंस रद करने की तैयारी है. वहीं शाहजहांपुर के 6 और बदायूं के 6 फिलिंग स्टेशन के लाइसेंस रद होंगे.

यह हुई है कार्रवाई

- दो मशीनों से तौल में मिली गड़बड़ी, मशीनें सील

- दोनों मशीनों से बिक्री पर लगाई है पूर्णतया रोक

- नोटिस जारी, 1 लाख रुपए जुर्माने की संभावना

- कंपनी को फिर सर्टिफिकेशन कराने की हिदायत

फीगर स्पीक

40 पेट्रोल पंप शहर में

110 पेट्रोल पंप रूरल एरिया में

मशीन के सर्टिफिकेशन के लिए संबंधित कंपनी को नोटिस जारी किया गया है. कमी पाए जाने पर कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

प्रवीण प्रभाकर, सेल्स मैनेजर, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन

फ्यूल के सैंपल भरे जाने के लिए औचक छापेमारी जारी रहेगी. किसी तरह की घटतौली या मिलावट पाए जाने पर सख्त कदम उठाए जाएंगे.

केएल तिवारी, डीएसओ