Movie review : फीकी जलेबी जैसी है फिल्लौरी, रस है मिठास नहीं

By: Abhishek Tiwari | Publish Date: Fri 24-Mar-2017 05:47:05
A- A+
Movie review : फीकी जलेबी जैसी है फिल्लौरी, रस है मिठास नहीं
फिल्लौरी का ट्रेलर मुझे काफी पसंद आया था, कांसेप्ट थोडा अलग सा था और ट्रेलर के सभी एलिमेंट बढ़िया थे, चाहे वो भूतिया अनुष्का के झिलमिलाते हुए विऍफ़एक्स हों, सूरज शर्मा की डरी हुई शक्ल हो, दिलजीत के चेहरे का भोलापन हो, या फिर फिल्म का संगीत। फिल्म की प्रॉब्लम ये है की बात ट्रेलर से आगे ज्यादा बढ़ी नहीं...फिल्म के तौर पर अधूरी सी रह जाती है अनुष्का शर्मा द्वारा बनाई गई दूसरी फिल्म ‘फिल्लौरी’

Phillauri
Director:Anshai Lal
Actors: Anushka Sharma, Diljit Dosanjh, Surah Sharma, Mehreen Peerzada

कहानी
मांगलिक कानन की शादी पीपल के पेड़ पर भटकती हुई भूतनी शशि से हो जाती है और फिर भूतनी शशि उसे अपनी बीती हुई ज़िन्दगी की कहानी सुनाती है।

कथा, पटकथा और निर्देशन
कांसेप्ट लेवल पर ये फिल्म काफी शानदार थी पर जब ये फिल्म के तौर पर आप देखते हैं तो ये फिल्म कई जगह पर काफी बोर हो जाती है। कहानी के लेवल पर ही इस फिल्म में काफी स्कोप था, पर फिल्म की राइटिंग काफी रूटीन सी है। इनफैक्ट कई जगह पर मेरे दिमाग में आया की ऐसा हो जाता तो कैसा होता और वैसा हो जाता तो कैसा होता पर जब आप फिल्म की कहानी की घटनाओं को देखते हैं, तो आपको ऐसी फीलिंग आती है, जैसे आपने अपनी प्यास बुझाने के लिए बर्फ का टुकड़ा खा लिया हो, प्यास बुझती ही नहीं। फिल्म के स्क्रीनप्ले में तरलता की कमी है। फिल्म में दो कहानियाँ साथ साथ चलती हैं, जो काफी कंफ्यूज कर देती हैं... न तो आप शशि और फिल्लौरी की कहानी से दिल लगा पाते हैं न ही शशि और कानन की कहानी से। कुल मिलाकर आप का मन खट्टा सा हो जाता है, खासकर सेकंड हाफ में। ऐसा नहीं है की फिल्म बिलकुल ही बोरिंग है, फिल्म में शशि और कानन के बीच के कॉमिक सीन आपको लुभाते हैं। फिल्म के टेक्निकल डिपार्टमेंट काफी अच्छे हैं। आर्ट और कॉस्टयूम तो वाकई बहुत अच्छे हैं। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी भी बढ़िया है। कुछ तो ये फिल्म कहानी में मात खाती है और बाकी गुडगोबर किया है फिल्म की खराब एडिटिंग ने, वरना ये फिल्म कुछ और ही होती।

Phillauri Movie, phillauri rating, anushka sharma, phillauri review imdb, phillauri movie review, phillauri book my show,  review of phillauri

 



अदाकारी
फिल्म में हर एक किरदार ने काफी अच्छा काम किया है, खासकर अनुष्का और सूरज ने। दिलजीत के लिए तो मानो ये एक टेलर मेड रोल था, वो उसमें एक दम फिट बैठते हैं। ओवरआल कास्टिंग बढ़िया है।

संगीत
बहुत अच्छा है, कान को अच्छा लगता है।

कुल मिलाकर ये फिल्म आपको पूरी तरह खुश नहीं करती न ही पूरी तरह निराश। ये कहीं अनुष्का शर्मा यानी शशि के भूत की तरह बीच में ही झूलती रहती है। फिर भी अच्छे परफॉर्मेंस और बढ़िया संगीत के लिए एक बार देखी जा सकती है फिल्लौरी। फिल्म का बॉक्स ऑफिस प्रेडिक्शन : फिल्म अपने पूरे रन में 30 करोड़ तक कमा लेगी

Review by : Yohaann Bhaargava
www.scriptors.in

Movie review : अनारकली ऑफ़ आरा, फेमिनिस्म की एक ब्रेव कहानी

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk