You are here : Home Photogallery

Dla Chhath Program in Allahabad

कार्तिक शुक्ल की षष्ठी गुरुवार को भगवान सूर्य देव की उपासना का महापर्व छठ आस्था और उल्लास के साथ मनाया गया. आस्था के विहंगम नजारे के गवाह बने संगम नोज, रसूलाबाद घाट, किला घाट, रामघाट व बलुआघाट सहित अन्य प्रमुख घाट. छठ गीते गाते परिजनों की मौजूदगी में व्रती महिलाओं ने डूबते सूर्य देव को अघ्र्य दिया. व्रती महिलाएं कमर भर पानी में नाक से लेकर मत्थे तक सिंदूर लगाकर खड़ी हुईं. आस्था का नजारा कई घाटों पर ऐसा दिखाई दिया कि लेटकर व्रती पहुंचे. अपने-अपने घरों से निकली व्रती महिलाओं व उनके परिजनों ने अखंड कलश ज्योति लेकर 'आज रुन झुन छठी मइया अइहे मोरे अंगना, कोसिया भराई घरे बाजी बजना,Ó 'हमहूं अरघिया देबई हे छठी मइयाÓ व 'केलवा के पात पर उगेलन सुरुजदेवÓ जैसे छठ गीतों को गाते हुए घाटों पर पहुंचे. कोई अपने सिर पर सूप लेकर निकला तो किसी ने ढोल-मजीरे की धुन पर गीत गुनगुनाया जा रहा था. सूर्य देव को अध्र्य देने से पहले और उसके बाद घाटों पर खूब सेल्फी ली गई. परिजनों और छोटे-छोटे बच्चों ने संगम नोज से लेकर रामघाट तक खूब सेल्फी खींची. पटाखों की गूंज और अनार व फुलझड़ी से बच्चों ने खूब मस्ती की. डूबते सूर्य को अध्र्य देने के बाद संगम नोज से लेकर रामघाट और बलुआघाट से लेकर बैरहना तक सड़कों पर दोपहिया व चार पहिया वाहनों की लम्बी कतार लग गई. जाम से संगम नोज, अलोपीबाग, फोर्ट रोड चौराहा, सोहबतियाबाग व सीएमपी डिग्री कालेज के पुल तक वाहन घंटों जाम में फंसे रहे.

Thu 26-Oct-2017 11:53:54
1/9

संगम में स्नान के बाद नई नवेली दुल्हन के साथ सूर्य देव की पूजा करती महिलाएं.

2/9

गंगा में स्नान करती डाला छठ की व्रती महिलाएं.

X
3/9

गंगा स्नान के बाद सूर्य देव की आरती करती महिला.

4/9

डाला छठ पर जमीन में लेट कर परिक्रमा करती व्रती महिला.

5/9

सूप में पूजन सामग्री लेकर गंगा स्नान के बाद सूर्य देव की पूजा करती महिला

X
6/9

संगम स्नान के बाद डाला छठ पर सूर्य देव की पूजा करते भक्त.

7/9

संगम स्नान के बाद सूर्य देव की आराधना में ध्यान लगाती महिला.

8/9

संगम स्नान के बाद पत्ते पर कपूर जला कर सूर्य देव की आरती करती महिला.

X
9/9

संगम स्नान के बाद सूर्य देव को जल देती महिला.