'प्रभु' के भरोसे रेलवे पैसेंजर्स की सुरक्षा

- विधानसभा में सफेद बारूद मिलने से प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था की खुली पोल

- खास की सुरक्षा पर तो जोर दिया, लेकिन आम जनता को भूल गए

- दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम ने सैटरडे सेंट्रल स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था का किया रियेलिटी चेक

- स्टेशन के मेन इंट्री प्वाइंट में तो सुरक्षा, चोर रास्तों से आने-जाने वालों से नहीं होती रोक टोक

kanpur@inext.co.in

kanpur. विधानसभा में सफेद बारूद मिलने के बाद प्रदेश स्तर पर वीआईपी लोगों की सुरक्षा को टाइट कर दिया गया है. लेकिन आम जनता की सुरक्षा के साथ अभी भी खिलवाड़ किया जा रहा है. सैटरडे को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने कानपुर सेंट्रल पर सिक्योरिटी सिस्टम का रियेलिटी चेक किया, जहां स्टेशन के इंट्री प्वाइंट में सिक्योरिटी इक्यूपमेंट तो नजर आए, लेकिन उन्हें फॉलो करने वाला कोई नहीं दिखा. जिसके चलते उनका कोई मतलब नहीं रह जाता है. इसके अलावा यहां पर दर्जनों चोर रास्ते बेपरवाही से खुले दिखे, जिनसे लोग आवाजाही कर रहे थे. ऐसे में यहां पर बड़ी ही आसानी से नापाक मंसूबों के साथ कोई भी इंट्री कर सकता है.

ये दिखावा किसके लिए..

कैंट साइड स्टेशन के इंट्री प्वाइंट में लगेज स्कैनर व आरपीएफ सिपाही बैठा था. डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर भी रखा था, लेकिन बीप बोलने पर वहां यात्रियों को कोई रोकने टोकने वाला नहीं था. यहीं हालात सिटी साइड पैसेंजर हॉल में लगे डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर का है. जहां लगेज स्कैनर में तो सिपाही तैनात है, लेकिन मेटल डिटेक्टर में कोई सिपाही तैनात नहीं था.

फुटओवर ब्रिज व सब-वे का हाल

सेंट्रल स्टेशन में सिटी साइड व कैंट साइट से फुटओवर ब्रिज व सब-वे से इंट्री प्वाइंट पर कोई सिपाही तैनात नहीं था. जो कानपुर सेंट्रल की सुरक्षा के लिए बड़ा ख्ातरा है.

सीसीटीवी से हो रही निगरानी

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट टीम ने जब स्टेशन में लगे सीसीटीवी का कंट्रोल रूम देखा तो वहां पर सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चाक चौबंद दिखाई दी. एक लेडी सिपाही समेत तीन कांस्टेबल की नजर सीसीटीवी पर थी. यह म्फ् सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से परिसर में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखे थे.

टाइम लाइन

- दोपहर क्.ख्0 बजे जीआरपी थाने के बगल में पार्सल कार्यालय के रास्ते से लोग बिना रोक टोक से आ-जा रहे थे.

- दोपहर क्.ख्भ् बजे रेलवे मेल सर्विस ऑफिस के रास्ते से लोग स्टेशन में बिना रोट टोक बाहर जा रहे थे.

- दोपहर क्.फ्0 बजे कैंट साइड के मेन एग्जिट प्वाइंट में कोई सिपाही तैनात नहीं मिला

- दोपहर क्.फ्ख् बजे कैंट साइड मेन इंट्री प्वाइंट में लगेज स्कैनर में एक सिपाही तैनात मिला, लेकिन मेटल डिटेक्टर से पास होने वाले यात्रियों को कोई रोकने टोकने वाला नहीं दिखा

- दोपहर क्.ब्0 बजे सीसीटीवी कंट्रोल रूम में तीन सिपाही तैनात थे. जो स्टेशन में होने वाली गतिविधियों पर नजर रखे थे.

- दोपहर क्.भ्0 बजे सिटी साइड फुटओवर ब्रिज से यात्री बिना चेकिंग के स्टेशन में आ-जा रहे थे.

- दोपहर क्.भ्भ् बजे सिटी साइड पैसेंजर हॉल में लगे लगेज स्कैनर में आरपीएफ सिपाही तैनात था. मेटल डिटेक्टर के पास कोई नहीं था.

- दोपहर ख् बजे पैसेंजर हॉल में कोई जीआरपी सिपाही तैनात नहीं दिखा.

- दोपहर ख्.क्भ् बजे सिटी साइड सब-वे रास्ते दो जीआरपी सिपाही तैनात थे. इसके बावजूद लोग बिना चेकिंग व रोक-टोक से स्टेशन में प्रवेश कर रहे थे.

दोपहर ख्.फ्0 बजे जीआरपी थाने के पीछे लगे गेट से लोग स्टेशन परिसर में बिना रोट-टोक से बाहर जा रहे थे.