पुलिस और बदमाशों में फिर से मुठभेड़, इनामी घायल

By: Inextlive | Publish Date: Wed 14-Feb-2018 07:00:23
A- A+
पुलिस और बदमाशों में फिर से मुठभेड़, इनामी घायल

- कृष्णानगर एरिया में मंगलवार तड़के बदमाश और पुलिस का सामना

- एक बदमाश घायल होने के बाद भी भाग निकला

- चोरी की बाइक, तमंचा और कारतूस बरामद

LUCKNOW: टाइल्स कारीगर की हत्या व दो लूट की घटनाओं में फरार चल रहे 25 हजार के इनामी बदमाश और उसके साथी का मंगलवार तड़के पुलिस से सामना हो गया। बदमाशों की फायरिंग के जवाब में पुलिस ने भी गोलियां दागीं। नतीजतन, एक बदमाश के पैर में गोली लगी जबकि, उसका साथी मौके से फरार होने में सफल रहा। पुलिस ने मौके से दो तमंचे, कारतूस व चोरी की बाइक बरामद की है। घायल बदमाश को इलाज के लिये ट्रॉमा सेंटर में एडमिट कराया गया है।

पुलिस को देख भाग निकले

एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक, मंगलवार तड़के सरोजनीनगर पुलिस को सूचना मिली कि हत्या व लूट के मामलों में वांछित 25 हजार रुपये का इनामी चिनहट निवासी संदीप कोरी साथी के साथ बाइक से गुजरने वाला है। सूचना मिलते ही पुलिस ने वाहन चेकिंग शुरू कर दी। इसी बीच बाइकसवार दो युवक आते दिखाई दिये। पुलिस ने उन्हें चेकिंग के लिये रुकने का इशारा किया तो वे बाइक की रफ्तार बढ़ाकर भाग निकले। इस पर सरोजनीनगर पुलिस ने इंस्पेक्टर कृष्णानगर अंजनी कुमार पांडेय को इसकी सूचना दी। जिसके बाद वे भी फौरन हरकत में आ गए और अलीनगर सुनहरा स्थित लालखेड़ा के पास पुलिस ने बदमाशों को घेर लिया गया।

करने लगे फायरिंग

खुद को घिरता देख बदमाशों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिसकर्मियों ने भी पोजीशन लेते हुए फायरिंग शुरू कर दी। जिससे एक गोली बदमाश संदीप कोरी के दाहिने पैर में लगी और वह वहीं धराशायी हो गया। जबकि, उसका साथी अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। एनकाउंटर की सूचना मिलने पर एसएसपी दीपक कुमार, एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र और आसपास के थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। आनन- फानन घायल संदीप कोरी को इलाज के लिये ट्रॉमा सेंटर में एडमिट कराया गया। जहां उसने अपने फरार साथी का नाम चिनहट निवासी रवि पासी बताया।

बॉक्स

हत्या कर शव जलाने का आरोप

एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक, गिरफ्त में आये बदमाश संदीप कोरी ने पिछले साल रक्षाबंधन के दिन पीजीआई इलाके में टाइल्स कारोबारी राजेश रावत की गला रेतकर हत्या कर दी थी और उसकी लाश को जलाकर गटर में फेंक दिया था। आरोपियों ने वारदात में गोमतीनगर एरिया से चोरी गई कार का इस्तेमाल किया था और हत्या के बाद उस कार को चिनहट स्थित जंगल में जला दिया था। राजेश की हत्या सुपारी किलिंग थी। राजेश की हत्या की सुपारी उसके सौतेले बेटे ने संदीप को दी थी। इस हत्याकांड को अंजाम देने से दो दिन पहले संदीप कोरी ने अपने साथियों के साथ मिलकर सरोजनीनगर में दो युवकों से लूटपाट की थी, विरोध पर उसने युवकों पर चाकू से हमला बोल दिया था। इस मामले में सरोजनीनगर थाने में डकैती की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। इन्हीं युवकों से लूटे गए मोबाइल फोन से संदीप ने टाइल्स कारीगर राजेश रावत को ठेका देने के नाम पर बुलाया था और वहां पहुंचते ही उन लोगों ने राजेश को मौत के घाट उतार दिया। संदीप कोरी इन तीनों वारदातों में वांछित चल रहा था, जिसके चलते उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

बॉक्स

कई वारदातें कुबूलीं

इंस्पेक्टर कृष्णानगर अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि अरेस्ट किये गए संदीप कोरी ने पूछताछ में बाइक चोरी, चेन व पर्स लूट की एक दर्जन वारदातों को अंजाम देना कुबूल किया। पुलिस उन सभी घटनाओं का ब्योरा जुटा रही है। इसके अलावा फरार हुए रवि पासी की भी तलाश की जा रही है।

inextlive from Lucknow News Desk