delete

गेहूं के बाद अब आलू क्रय केंद्र

By: Inextlive | Publish Date: Sat 22-Apr-2017 07:40:05
- +
गेहूं के बाद अब आलू क्रय केंद्र

बदलाव

गेहूं के बाद अब आलू क्रय केंद्र

अब सड़क पर नहीं फिंकेगा आलू

- मंडल के किसानों को मिलेगा आलू व गेहूं का उचित दाम

- सरकार ने प्रारंभ की बाजार प्रोत्साहन योजना

मेरठ: सूबे की योगी सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयास प्रारंभ कर दिए हैं। इसी क्रम में मंडल के किसानों को गेहूं व आलू की उपज के उचित दाम दिलवाने व आसान व सुलभ बिक्री के उद्देश्य के दृष्टिगत कमिश्नर डॉ। प्रभात कुमार ने मंडी में गेहूं और आलू क्रय केंद्र खोलने के आदेश मंडल के डीएम को दिए।

किसानों को फायदा

शासन ने आलू उत्पाद के सही मूल्य किसानों को उपलब्ध कराने के लिए बाजार प्रोत्साहन योजना प्रारंभ की है। मंडल का गेहूं खरीद का लक्ष्य 2 लाख 27 हजार मैट्रिक टन हैं, अब तक मंडल में 204 गेहूं क्रय केंद्र व 13 आलू क्रय केंद्र स्थापित किए जा चुके हैं। कमिश्नर ने समीक्षा दौरान पाया कि आलू व गेहूं क्रय केंद्र हर मंडी में नहीं खोले गए हैं।

पीसीएफ करेगा खरीद

बता दें कि सरकार ने आलू का उचित मूल्य दर 487 प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है, नोडल एजेंसी पीसीएफ आलू की खरीद करेगी। अपर आयुक्त गया प्रसाद ने सकुर्लर सभी डीएम को जारी किया है.

inextlive from Meerut News Desk