-देश-विदेश से आने वाले लाखों श्रद्धालु चढ़ाएंगे आस्था की खिचड़ी

-एक हजार से ज्यादा स्वयंसेवक व मंदिर के सेवक लगे हैं व्यवस्था संभालने में

-खिचड़ी मेले की जिला प्रशासन ने पूरी की तैयारी

GORAKHPUR: खिचड़ी मेले की तैयारी पूरी हो गई है. योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद यह पहला खिचड़ी मेला है. इसका इसे भव्य करने की हर जोर कोशिश जिला प्रशासन स्तर से की जा रही है. पुलिस प्रशासन की तरफ से मंदिर परिसर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. मंदिर के हर एक प्वाइंट पर पुलिस, वालेंटियर्स ने भीड़ को काबू में करने के लिए पूरी तरह से व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त कर दिया है.

सोमवार सुबह 4 बजे से चढ़ेगी खिचड़ी

मकर संक्रांति के महापर्व पर गोरखनाथ मंदिर में बाबा गोरखनाथ को गोरक्षपीठाधीश्वर सह सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार सुबह शुभ मुहुर्त में खिचड़ी चढ़ाएंगे. उसके बाद श्रद्धालु खिचड़ी चढ़ा सकेंगे. श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर परिसर में बैरिकेडिंग हैं. महिलाओं के लिए अलग लाइन है. मंदिर प्रशासन की मानें तो खिचड़ी मेले में करीब 8 लाख से ज्यादा श्रद्धालु बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाएंगे. रविवार देर शाम के बाद से श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरू हो जाएगा. मकर संक्रांति पर पूरे दिन बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाया जाएगा.

दूसरे राज्जों से आ चुके हैं श्रद्धालु

मंदिर प्रभारी द्वारिका तिवारी बताते हैं कि मंदिर परिसर में खिचड़ी मेला एक माह तक चलेगा. नेपाल सहित अन्य देशों के साथ देश की राजधानी दिल्ली, मुंबई व अन्य राज्यों बिहार, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात, ओडिशा, पंजाब से बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी चढ़ाने के लिए श्रद्धालु लगभग आ चुके हैं. दूर-दराज से आए इन श्रद्धालुओं और बच्चों के लिए मनोरंजन का मेले में भरपूर आनंद मिलेगा. वहीं, मंदिर परिसर में खाजा-खजला, मिठाई और श्रृंगार के साथ अन्य जरूरत के सामान की दुकानें सजकर पूरी तरह से तैयार हो चुकी है.

भीम सरोवर होगा आकर्षण का केंद्र

कई साल बाद साफ-सफाई के बाद गोरखनाथ मंदिर में बना भीम सरोवर बरबस ही लोगों को आकर्षित करेगा. जहां एक तरफ आस्था से ओत-पोत श्रद्घालु बाबा गुरु गोरक्षनाथ जी को खिचड़ी चढ़ाएंगे. वहीं, भीम सरोवर के आसपास का मनोरम दृश्य लोगों के लिए त्रेता युग की गाथा का प्रतीक होने के साथ उनके मनोरंजन का केंद्र बना हुआ होगा.

चाक-चौबंद है व्यवस्था

गोरखनाथ मंदिर में दूर-दराज से आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा व सुरक्षा के लिए प्रशासनिक व पुलिस के आला अधिकारियों ने पुख्ता इंतजाम किए हैं. एक माह तक चलने वाले खिचड़ी मेला की सुरक्षा के लिए 200 से ऊपर सीसीटीवी कैमरे, पुलिस पिकेट, कैंप कार्यालय, चौकियों के साथ एक हजार से ऊपर स्वयंसेवकों, स्काउट-गाइड व पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है.

650 से ऊपर लगी हैं दुकानें

मेला प्रभारी शिवशंकर उपाध्याय ने बताया कि छोटे बड़े मिलाकर कुल 650 से ऊपर दुकानें सजाई गई हैं. इसमें क्राकरी, बड़े झूला, छोटे झूला समेत खाजा-खजला की दुकानें हैं. बच्चों से लेकर हर वर्ग के लोगों के लिए मेले में दुकान है, जिसका लाभ पब्लिक को मिलेगा.